झारखंड में चतरा के सोखा में रात अमर चौधरी की पुत्री क्रांति कुमारी (16) को नींद में सांप ने डंस लिया। विष के प्रभाव में वह बेहोश हो गई। सुबह लड़की के नहीं उठने पर घर वाले परेशान हो गए। उसे उठाने का प्रयास किया, तभी गले में सांप के डंसने का निशान देख घर में कोहराम मच गया।

लड़की के शरीर में कोई हलचल नहीं हो रही थी, जिससे घर वाले व मौके पर पहुंचे अन्य लोगों ने उसे मृत समझ लिया। रोने-धोने के बाद अंतिम संस्कार की तैयारी शुरू हुई। घर पर सारे कर्मकांड के बाद उसे श्मशान ले जाया गया।

चिता पर लड़की को लिटा कर जैसे ही आग लगाई गई उसके शरीर में हरकत शुरू हो गई। उसे तत्काल चिता से उतारा गया और एंबुलेंस से हंटरगंज सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचाया गया।

बाद में परिजनों के अनुरोध पर चिकित्सकों ने बेहतर इलाज के लिए लड़की को गया के मगध मेडिकल कॉलेज अस्पताल रेफर कर दिया। गया ले जाने के क्रम में उसकी मौत हो गई। उसके बाद पुनः उसकी चिता सजी और अंतिम संस्कार किया गया।