नई दिल्ली,  लगातार दो विदेशी दौरों पर करारी हार के बाद अब इसका असर टीम में भी देखने को मिल रहा है. अब सवाल यह है कि टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली और कोच रवि शास्त्री के बीच क्या सब कुछ ठीक चल रहा है.

हाल ही में इंग्लैंड दौरे के बाद प्रैक्टिस मैच के मुद्दे पर कप्तान कोहली और कोच शास्त्री दोनों की अलग-अलग राय सामने आई. पहले भारतीय कप्तान विराट कोहली ने कहा था कि वह ज्यादा अभ्यास मैचों के पक्ष में नहीं हैं.

हालांकि शास्त्री का कहना है कि ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट सीरीज शुरू होने से पहले हमने अधिक से अधिक अभ्यास मैच आयोजित कराने का बोर्ड से अनुरोध किया है.

भारतीय टीम 21 नवंबर से शुरू होने वाले तीन मैचों की टी-20 सीरीज से ऑस्ट्रेलिया दौरे की शुरुआत करेगी. भारत को तीन टी-20 अंतरराष्ट्रीय, तीन वनडे और चार टेस्ट मैचों के लिए 21 नवंबर से 18 जनवरी के बीच ऑस्ट्रेलिया का दौरा करना है.

बता दें कि इंग्लैड में टेस्ट सीरीज से पहले अभ्यास मैचों को कप्तान कोहली ने समय की बर्बादी करार दिया था. लेकिन अब कोच शास्त्री की इन बातों से जाहिर है कि वह कप्तान से इत्तेफाक नहीं रखते.

भारतीय टीम ने इंग्लैंड दौरे पर टेस्ट सीरीज से पहले सिर्फ एक प्रैक्टिस मैच खेला था. एसेक्स के खिलाफ यह मैच भी पहले चार दिन के लिए प्रस्तावित था. बाद में टीम इंडिया के आग्रह पर इसे तीन दिन का कर दिया गया था.

प्रैक्टिस मैच के बगैर, कोई तैयारी नहीं होने के कारण भारत ने साउथ अफ्रीका में 1-2 और इंग्लैंड में 1-4 से सीरीज गंवाई. ऐसे में निकट भविष्य में कुछ फैसलों को लेकर कप्तान और कोच के बीच तालमेल की कमी या विवाद सामने आए तो किसी को हैरानी नहीं होनी चाहिए.