सेक्स एक ऐसी चीज है जो ज्यादातर लोगों को पसंद तो होती है लेकिन इससे जुड़े सवाल भी अनगिनत होते हैं। अक्सर सेक्स के दौरान पुरुष तो अपनी जरूरतों को पूरा करवा लेते हैं लेकिन महिलाएं अपनी जरूरतों को खुलकर बता नहीं पातीं जिस वजह से अक्सर वे सेक्स के दौरान असंतुष्ट रह जाती हैं। महिलाओं की सेक्शुअल प्रॉब्लम्स की बात करें तो एक स्टडी में सामने आया है कि 54 प्रतिशत महिलाओं को ऑर्गैज्म से जुड़ी प्रॉब्लम होती है, 28 प्रतिशत सेक्स के बाद भी संतुष्टि महसूस नहीं करतीं और 36 प्रतिशत में इच्छा की कमी होती है। जानें, इन कॉमन प्रॉब्लम्स की वजह और उनका हल...मुंबई की एक क्लिनिकल साइकॉलजिस्ट आयशा खान कहती हैं, अच्छे और सैटिसफाइंग सेक्स सेशन का मतलब सिर्फ इंटरकोर्स नहीं होता। इसमें फोरप्ले, मसाज और ऑरल सेक्स जैसी चीजें भी शामिल होती हैं। और जहां तक महिलाओं द्वारा ऑर्गैज्म महसूस करने यानी क्लाइमैक्स तक पहुंचने का सवाल है तो इसके लिए क्लिटरिस स्टिम्यूलेशन सबसे जरूरी है और इंटरकोर्स के दौरान क्लिटरिस की अनदेखी हो जाती है। ऐसे में दोनों पार्टनर सेक्स से संतुष्टि महसूस करें इसके लिए जरूरी है कि फीमेल पार्टनर भी क्लाइमैक्स तक पहुंचें।सेक्स के दौरान फीमेल पार्टनर द्वारा अपने हाथों को साइड में रखना जहां बेहद बोरिंग हो जाता है वहीं, पार्टनर की पीठ पर अपने नाखून गड़ाने से न सिर्फ पार्टनर को तकलीफ हो सकती है बल्कि यह फिल्म ड्राकूला के किसी सीन जैसा लग सकता है। लिहाजा आप चाहें तो सेक्स के दौरान अपने हाथों से पार्टनर की पीठ या जांघ पर सर्कल या अलग-अलग पैटर्न बना सकती हैं। इससे पार्टनर को सबसे ज्यादा उत्तेजना महसूस होगी। आप चाहें तो पार्टनर के बाल भी पकड़ सकती हैं लेकिन ऐसा करते वक्त भी सावधानी बरतें कि आप बाल को बहुत तेज न खींचें।एक्सपर्ट्स की मानें तो ऐसा रिश्ता बहुत कम ही देखने को मिलता है जिसमें दोनों पार्टनर की कामेच्छा यानी सेक्स ड्राइव एक जैसी हो। ज्यादातर कपल्स के बीच दोनों पार्टनर की कामेच्छा अलग-अलग होती है। आयशा खान कहती हैं, जिस तरह आपकी सेक्स की इच्छा कम या अधिक हो सकती है उसी तरह आपके पार्टनर की भी। ऐसे में अगर आपका पार्टनर सेक्स के प्रति दिलचस्पी कम दिखाता है तो इसका मतलब यह नहीं है कि उसका संबंध आप से है या वह आपकी वजह से सेक्स नहीं करना चाहता। याद रखें सेक्स ही रिश्ते में सबकुछ नहीं होता और ना ही यह किसी रिश्ते का अंत होता है। आप चाहें तो बेडरूम में पार्टनर की दिलचस्पी बढ़ाने के लिए अलग-अलग ऐक्टिविटीज कर सकती हैं।सेक्स को लेकर लोगों को जो सबसे बड़ी चिंता या परेशानी होती है वह यही है कि अगर बिस्तर में मेरी परफॉर्मेंस अच्छी नहीं हुई तो? इस सवाल की सबसे बड़ी वजह है- सेक्स से जुड़ा प्रेशर। बहुत सी महिलाओं को इस बात का डर सताता रहता है कि उन्हें उनका पार्टनर उनकी सेक्शुअल परफॉर्मेंस के आधार पर जज करेगा और अगर उनकी परफॉर्मेंस अच्छी नहीं हुई तो वह उन्हें छोड़ देगा। इस डर से बाहर निकलने का सबसे अच्छा तरीका यही है कि आप अपने पार्टनर से बात करें कि आप सेक्स के बारे में क्या सोचती हैं।