नई दिल्ली : आपके खाते में यदि 99 करोड़ 99 लाख रुपये आ जाएं तो शायद आपके होश उड़ जाएं और आप कुछ देर के लिए बोल ही न पाएं. ऐसा ही कुछ बिहार के खगड़िया में 15 से ज्यादा लोगों के खाते में हुआ. इन लोगों के खाते से करोड़ों रुपये का ट्रांजेक्शन हो रहा था और इन्हें इसकी भनक तक नहीं थी. पूरे मामले का खुलासा तब हुआ जब जय जय राम ने अपने खाते का बैलेंस चेक किया तो जानकारी हुई कि उसके खाता मे 99 करोड़ 99 लाख रुपया जमा है. इसके बाद उसने तुरंत इस बारे में पुलिस को सूचना दी.

पुलिस पूरे मामले की छानबीन में जुटी
पुलिस ने जांच में पाया कि सभी लोग साइबर क्राइम के शिकार हो गए हैं. पुलिस पूरे मामले की छानबीन में जुटी हुई है और आरोपियों तक पहुंचने का प्रयास कर रही है. दरअसल खगड़िया के गंगौर थाना क्षेत्र के रहने वाले रहीमा पंचायत के 15 से ज्यादा लोग साइबर क्राइम के शिकार हो गए. सभी के खाता से पिछले कई महीने से करोड़ों रुपये का ट्रांजेक्शन हो रहा था. इन सभी लोगों का कहना है कि दलाल के चक्कर में फंसकर ठगी के शिकार हो गए.

लोन दिलाने के लालच में दिए कागजात
गांव के एक बिचौलिये ने महिलाओं को लालच दिया कि वे बैंक से लोन दिला देगा. इसी लालच में आकर बिचौलियों ने इन लोगों के दस्तावेज लेकर अलग-अलग कई बैंकों में खाता खुलवा दिया. इसके बाद बैंक की पासबुक, एटीएम, पिन नंबर और सिम कार्ड भी अपने पास रख लिया. कुछ दिनों बाद जब लोन नहीं मिला तो अकाउंट होल्डर जयजय राम ने खगड़िया के जलकौड़ा स्थित एसबीआई ब्रांच में जाकर अपना बैलेंस चेक किया. बैलेंस देख उसके होश उड़ गए क्योंकि उसके खाते में 99 करोड़ 99 लाख रुपये दिखा रहा था. इसे देखकर बैंक के अधिकारी भी हैरान रह गए.

इसके बाद गांव के दूसरे लोगों ने भी खाता चेक किया तो पता लगा कि करीब 15 लोग साइबर क्राइम के शिकार हुए हैं. इनके खाते से ऑनलाइन ट्रांजेक्शन पिछले कई महीने से किया जा रहा था. सभी खाताधारकों ने पुलिस से इस बारे में शिकायत की. इस पूरे मामले में ब्रांच मैनेजर सौरभ कुमार सुमन का कहना है कि सभी लोग साइबर क्राइम का शिकार हुए हैं. शिकायत मिलने के बाद खाते को फ्रीज कर दिया गया है. इस मामले का बैंक से कोई लेना देना नहीं है.

इस मामले को खगड़िया पुलिस ने गंभीरता से लेते हुए गांव के 10 बिचौलियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की है. खगड़िया एसपी मीनू कुमारी का कहना है कि साइबर क्राइम का बड़ा मामला सामने आया है. पुलिस मुख्यालय से बात कर पूरे मामले की जाचं की जा रही है.