प्रतिभा को सफल होने से कोई रोक नहीं सकता. अगर मन में चाह हो तो बड़े से बड़ा लक्ष्य हासिल किया जा सकता है. इसी तरह का एक उदाहरण सिक्किम में रहने वाले बिकाल राय ने पेश किया है, जिन्होंने तमाम बाधाओं के बावजूद अपने सपने पूरे किए.

बिकाल  राय का नाम आज सिक्किम में काफी चर्चित है. वे अपनी मेहनत से आज राज्य का पोस्टर ब्वॉय बन गए हैं. बिकाल राय ने कई छोटे अविष्कार किए लेकिन सेमी इको फ्रेंडली इलेक्ट्रॉनिक कार इंजन बनाकर इतिहास रच दिया.
बिकाल के यह सफर आसान नहीं रहा. गरीबी के कारण पढ़ाई बीच में छोड़नी पड़ी, लेकिन कम उम्र में लगा यह तगड़ा झटका भी बिकाल को अपने लक्ष्य से डिगा न सका और स्कूल से बाहर होकर भी उन्होंने अपनी मज़िल हासिल की.

बिकाल ने अपने गांव के लोगों के लिए कई अविष्कार किए हैं और उनके जीवन को आसान बनाने की कोशिश की है. बिकाल ने हाइड्रो पावर जनरेटर बनाया है जो 2.3 वोल्ट की ऊर्जा उत्पन्न कर सकता है, जिसका मतलब यह है कि इससे तीन बल्ब में रोशनी आ सकती है और साथ ही चार मोबाइल फोन भी चार्ज हो सकते हैं.


इसी तरह बिकाल  ने सिरींज, ड्रिप पाइप, प्लास्टिक की अन्य वस्तुओं और टायर से पावर स्टेयरिंग उपकरण बनाया और इसमें एफएम स्टेशन भी इंस्टॉल कर दिया. इस तरह के कई उपकरण बिकाल ने बनाए, लेकिन 2015 में उन्होंने जब सेमी इको फ्रेंडली इलेक्ट्रॉनिक कार बनाई तो उन्हें काफी चर्चा मिली और वे बेहद मशहूर हो गए.

बिकाल की प्रतिभा और उनकी एक के बाद एक उपलब्धि से प्रभावित होकर मंगलवार को सिक्किम सरकार ने यह तय किया कि बिकाल की सक्सेस स्टोरी को सरकारी स्कूलों में पढ़ाया जाएगा, जिससे बच्चे प्रेरित हो सकें और अपने करियर में कुछ बड़ा कर सकें. सिक्किम के मुख्यमंत्री पवन चैमलिंग ने बिकाल की सहायता करने की घोषणा की है.

सिंगम और गंगटोक के बीच स्थित 32 मील की दूरी पर राष्ट्रीय राजमार्ग पर बिकाल अपने इस नए आविष्कार का प्रदर्शन कर चुके हैं. उन्होंने जनवरी 2015 में अपना यह ड्रीम प्रोजेक्ट शुरू किया. शुरुआत में बिकाल एक डेड इंजन खरीदा और मेहनत करके इस इंजन को नया स्वरूप दिया और उसे प्रभावी कार इंजन में बदल दिया.

उनकी इलेक्ट्रिक कार के सिर्फ लुक की तुलना अगर अन्य इलेक्ट्रिक कारों से की जाए तो आप कह सकते हैं की बिकाल की कार दिखने में कम आकर्षक है, लेकिन उनकी पहली स्वयं-डिज़ाइन की गई कार की लागत केवल 40,000 रुपए है. उनकी कार ने कुछ स्थितियों में काफी अच्छा प्रदर्शन किया है। बिकाल की इलेक्ट्रिक कार दो अलग इंजनों द्वारा संचालित होती है. एक आंतरिक दहन इंजन और एक द्वितीयक इंजन इकाई, जो बैक-अप इकाई है. उनकी इस कार की अधिकतम गति 60 किमी प्रति घंटा है.