नई दिल्‍ली : 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले एक बार फिर राम मंदिर का मुद्दा गरमा रहा है. इसी के तहत राम मंदिर निर्माण को लेकर एक और सांसद ने बयान दिया है. मध्‍य प्रदेशमें समाजवादी पार्टी के सांसद सुरेंद्र सिंह नागर ने एक कार्यक्रम के दौरान कहा 'मैं भगवान राम का भक्‍त हूं. मैं मानता हूं कि आगामी लोकसभा चुनाव तक हम अयोध्‍या में राम मंदिर देखेंगे. अगले 3 से 6 महीने में अयोध्‍या में राम मंदिर का निर्माण हो जाएगा.

सपा सांसद सुरेंद्र सिंह ने कहा है कि अब चुनावों के चक्‍कर में सभी राजनीतिक दल भगवान राम का नाम इस्‍तेमाल करेंगे. उन्‍होंने कहा के बीजेपी ने केंद्र में साढ़े चार साल पूरे कर लिए हैं. उसने वादा किया था कि जब उसकी सरकार केंद्र और राज्‍य में आएगी तो हम अयोध्‍या में राम मंदिर बनवाएंगे. लेकिन अब चुनाव से कुछ ही महीने पहले उसे फिर से राम मंदिर याद आ रहा है.

बता दें कि अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर उन्नाव से बीजेपी सांसद साक्षी महाराज ने भी शनिवार को कहा कि 2019 से पहले अगर राम मंदिर का निर्माण नहीं होता है, तो वह बीजेपी के साथ नहीं खड़े होंगे. क्योंकि राम मंदिर के मुद्दे पर वह संतों के साथ खड़े हैं. बीजेपी सांसद साक्षी महाराज ने कहा 'आज मैं जो कुछ भी हूं, भगवान राम की कृपा से हूं. आज बीजेपी जिस मुकाम पर पहुंची है, उसके पीछे रामजी की कृपा और संतों का बहुत बड़ा योगदान है.'

5 अक्टूबर को राजधानी दिल्ली में विश्व हिंदू परिषद द्वारा आयोजित की गई बैठक का जिक्र करते हुए, उन्होंने कहा कि संतों ने राम मंदिर को लेकर सरकार के रवैये से काफी नाराज हैं.

वहीं शुक्रवार को शिवसेना के नेता संजय राउत ने कहा था 'जब अयोध्‍या में विवादित ढांचा गिराने के लिए कोर्ट से नहीं पूछा तो हम राम मंदिर निर्माण के लिए कोर्ट से क्‍यों पूछें.' उन्‍होंने कहा 'राम मंदिर श्रद्धा का मामला है, दिवाली के बाद लाखों शिवसैनिक मिलकर राम मंदिर निर्माण का काम शुरू करेंगे.'संजय राउत ने मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि राम मंदिर को लेकर सरकार अध्‍यादेश लाए. उन्‍होंने कहा कि राम मंदिर पर सरकार को फैसला लेना ही होगा. उन्‍होंने बीजेपी पर आरोप लगाया कि बीजेपी सत्‍ता में राम मंदिर निर्माण के नाम पर ही वोट मांगकर आई है.