नई दिल्ली, देश के सभी राज्यों के बीजेपी प्रवक्ताओं और मीडिया प्रभारियों की क्लास में केंद्रीय नेतृत्व ने 5 राज्यों के चुनाव के साथ-साथ 2019 को लेकर मूल मंत्र दिया. कार्यशाला में केंद्रीय नेतृत्व ने बेहतर मीडिया प्रबंधन की बात कही ताकि अधिक से अधिक केंद्र और बीजेपी शासित राज्यों के सरकार की योजनाओं को जनता के बीच पहुंचाया जा सके.

पार्टी प्रवक्ताओं की बैठक में बीजेपी राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने 2014 से भी अधिक सीट जीतने का भी मंत्र दिया. अमित शाह ने प्रवक्ताओं से कहा कि हमें 300 प्लस के लक्ष्य से 2019 के चुनाव के लिए काम करना चाहिए. अमित शाह ने प्रवक्ताओं को बताया कि 2019 का लोकसभा का चुनाव देश को जोड़ने वाले बीजेपी और देश को तोड़ने वाली विपक्ष के बीच है. प्रवक्ताओं को कहा गया कि वो जनता को समझाएं कि उन्हें देश को तोड़ने वाले या फिर देश को जोड़ने वाले दलों में से एक को चुनना है.

पार्टी के इस कार्यशाला में सभी समसामयिक मुद्दों की चर्चा की गई. वित्तमंत्री अरुण जेटली ने केंद्रीय वक्ताओं को आर्थिक मुद्दों जिसमें पेट्रोल डीजल, रुपया की स्थिति, जीएसटी, नोटबन्दी, अर्थव्यवस्था के विषयों के बारे में अपनी बात कैसे रखें, इन मुद्दों पर विपक्ष के आरोपों का जवाब किस तरह दिया जाए, इसकी भी रणनीति बताई. बैठक में भारतीय अर्थव्यवस्था के मजबूत होने की बात कही गई और इसे जनता तक पहुंचने की भी योजना गढ़ी गई.

पीयूष गोयल ने मोदी प्रशासन को पारदर्शी बताते हुए कहा कि सरकार के कामकाज में तेजी आई है और भरष्टाचार में कमी आई है. केंद्र की पूर्ववर्ती सरकार को भ्रष्टाचार में डूबा हुआ भी बताया गया. प्रकाश जवाडेकर ने पार्टी के प्रवक्ताओं की कार्यशाला में सामरिक मुद्दों पर भी चर्चा की. प्रकाश जवाडेकर ने सर्जिकल स्ट्राइक को केंद्र सरकार की बड़ी उपलब्धियों में से एक बताया. उन्होंने राफेल के मुद्दे पर विरोधियों के आरोपों का जवाब कैसे दें, इसके भी गुर सिखाये.

देश भर से आये बीजेपी के प्रवक्ताओं और मीडिया प्रभारियों की कार्यशाला में विभिन्न मुद्दों पर विभिन्न राज्यों से आये प्रवक्ताओं के सवालों के जवाब भी दिए गए. कार्यशाला को बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह, वित्त मंत्री अरुण जेटली, एचआरडी मंत्री प्रकाश जवाडेकर, पीयूष गोयल, रामलाल आदि ने संबोधित किया.