गोहाना (हरियाणा): इंडियन नेशनल लोकदल के प्रमुख ओम प्रकाश चौटाला ने अपने पिता देवी लाल की 105वीं जयंती पर आयोजित रैली को संबोधित करते हुए कहा कि वह चाहते हैं कि 2019 लोकसभा चुनाव के बाद मायावती देश की प्रधानमंत्री बनें. उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी के नेता इस काम में जुट गए हैं. मायावती को प्रधानमंत्री बनाने के लिए तमाम विपक्षी दलों से बातचीत की जा रही है. चौटाला पैरोल पर दो सप्ताह के लिए जेल से बाहर निकले हैं. वे शिक्षक भर्ती घोटाले मामले में 10 साल की कैद काट रहे हैं. 

करीब चार साल बाद बड़े सार्वजनिक मंच से पूर्व मुख्यमंत्री भूपेन्द्र हुड्डा के गढ़ से हुंकार भरते हुए चौटाला ने एक बार फिर कहा कि अगर पढ़े-लिखे बच्चों को नौकरी देना गुनाह है तो वह ऐसा गुनाह बार-बार करेंगे, चाहे उसके लिए उन्हें फांसी क्यों न चढ़ना पड़े. उन्होंने कहा,‘‘कांग्रेस पार्टी ने साजिश के तहत प्रदेश के 3200 पढ़े-लिखे बच्चों को नौकरी देने के लिए मुझे जेल भिजवाया. मेरे जेल जाने के बाद कांग्रेस समझी कि इनेलो खत्म हो जाएगी, लेकिन हमारे कार्यकर्ताओं ने मेरी गैरहाजिरी में पार्टी को और मजबूत बनाया है.’’ 

चौटाला ने पार्टी के मिशन 2019 का रोड मैप तैयार करने की भी जानकारी दी. चौटाला ने इस मंच के माध्यम से बेरोजगारों , कर्मचारियों ,किसानों ,बुजुर्गों और छात्रों के लिए घोषणा कर एक तीर से कई निशाने साधे. चौटाला करीब चार साल बाद किसी बड़े सार्वजनिक मंच से भाषण दे रहे थे. इससे पहले उन्होंने 25 सितंबर 2014 की जींद रैली में भाषण दिया था. वह 18 तारीख को वापस जेल जाएंगे. इस दौरान, गुजरात के पूर्व मुख्यमंत्री शंकर सिंह वाघेला ने देवीलाल परिवार की सराहना करते हुए केंद्र की भाजपा सरकार पर जमकर निशाना साधा.
उन्होंने कहा, ‘‘जब से भाजपा सत्ता में आई है देश बर्बादी की कगार पर आ गया है. देश की सुरक्षा का मखौल उड़ाया जा रहा है. भाजपा वाले जब विपक्ष में थे तो वे महंगाई पर कांग्रेस पर कटाक्ष करते थे कि शर्म करो-शर्म करो, अब इतनी महंगाई बढ़ गई इससे उन्हें शर्म नहीं आ रही.’’ उन्होंने कहा कि उनका देवीलाल परिवार से 4 जी यानि चार पीढियों का रिश्ता है. 

रैली के दौरान नेता प्रतिपक्ष अभय सिंह चौटाला ने दावा किया है कि इनेलो-बसपा की सरकार बनने पर किसानों का कर्ज माफ किया जाएगा. अभय ने कहा ‘‘हमने एसवाईएल के लिए सैकड़ों लोगों के साथ संसद का घेराव किया और गिरफ्तारियां देने का काम किया. अभय ने कहा कि जबतक एसवाईएल तक का पानी हरियाणा को पानी नहीं मिलता तब तक केन्द्र एवं प्रदेश सरकार को परेशान किया जाएगा.’’ 

रैली में अभय ने कहा कि एसवाईएल नहर का निर्माण यदि एक नवंबर तक शुरू नहीं होता तो एक बार फिर इनेलो आंदोलन छेड़ेगी. इनेलो, बसपा की मुखिया और यूपी की पूर्व सीएम से गठबंधन करके इस उम्मीद के साथ मैदान में उतरी है कि अब उन्हें सत्ता में आने से कोई नहीं रोक सकता. रविवार को गोहाना में सम्मान दिवस के उपलक्ष्य में इनेलो की रैली में बसपा की बराबर की भागेदारी रही तथा मंच से बसपा के संयोजक और प्रभारी प्रकाश भारती तथा डा मेघराज ने जमकर ओमप्रकाश चौटाला तथा दिवगंत नेता देवीलाल की तारीफों के पुल बांधे तथा गठबंधन को चट्टान की तरह मजबूत बताया.

दोनों बसपा नेताओं को इनेलो पार्टी के जिला अध्यक्ष पदम सिंह दहिया ने हरी पगड़ी बांधकर देवीलाल की फोटो का स्मृति चिन्ह भेंट किये. मगर जब बसपा नेताओं की चौधरी ओमप्रकाश चौटाला का सम्मान करने की बारी आई तथा उन्हें बसपा के रंग की नीली पगड़ी पहनानी चाही तो इनेलो सुप्रीमो ने इंकार कर दिया तथा कहा कि वह पहले से ही हरी पगड़ी पहने हुए हैं इसकी जरुरत नहीं है. इस नजारे से बसपा के कार्यकर्ता सन्न रह गये.