मुंबई: एक्ट्रेस शिल्पा शेट्टी ने रविवार को कहा कि वक्त आ गया है जब महिलाएं अपने साथ हुए सेक्सुअल हैरेसमेंट के बारे में बात करें लेकिन ‘‘#meetoo’’ हैशटैग के साथ नहीं बल्कि ‘‘#Youtooo’’ के साथ, क्योंकि इसमें कसूरवार मर्द हैं. दस साल पहले एक फिल्म के सेट पर नाना पाटेकर के कथित हैरेसमेंट के बारे में बात करने के लिए शिल्पा ने तनुश्री दत्ता की सराहना की और कहा कि इससे एक कैंपेन की शुरुआत हुई है.

शिल्पा ने कहा, ‘‘किसी भी माहौल में कलाकारों के लिए काम करने का माहौल सुरक्षित होना चाहिए. यह एक शर्त होनी चाहिए. तनुश्री दत्ता ने जो कैंपेन चलाया है उसमें मैं एक महिला और एक इंसान के तौर पर उनके साथ हूं क्योंकि ऐसी चीजों को दबा दिया जाता है.’’ उधर, पाटेकर ने सेक्सुअल हैरेसमेंट के आरोपों से इनकार किया है.
शिल्पा ने कहा कि महिलाओं को कमजोर महसूस या अपने आप को कसूरवार नहीं ठहराना चाहिए बल्कि आज के समय में मजबूत रहना चाहिए. उन्होंने कहा, ‘‘हम नहीं जानते कि क्या चल रहा है लेकिन इससे एक कैंपेन की शुरुआत हुई है. लोगों ने सहा है. अब समय आ गया कि महिलाएं जाग गई हैं और उन्होंने कमान संभाल ली है. हैशटैग #meetoo नहीं हो सकता बल्कि यह पुरुषों के लिए #youtoo होना चाहिए.’’
एक्ट्रेस तनुश्री दत्ता ने एक टीवी इंटरव्यू में दत्ता ने आरोप लगाते हुए कहा, ''10 साल पहले ‘हॉर्न ओके प्लीज’ फिल्म के सेट पर नाना पाटेकर ने मेरे साथ गलत व्यवहार किया था. जब मैंने इस बारे में प्रोड्यूसर-डायरेक्‍टर से कहा कि यह बंदा (नाना पाटेकर) मुझे पकड़कर खींच रहा है और डांस सिखा रहा है तो बजाए मेरी शिकायत सुनने के उन्होंने एक और डिमांड रख दी कि नाना अब इस गाने में मेरे साथ एक इंटीमेट डांस स्‍टैप करना चाहता है. उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि पाटेकर को फिल्मकार और कोरियोग्राफर का मौन समर्थन था.
इस मामले में तनुश्री का साथ देने वालों की लिस्ट में लगातार नए-नए नाम शामिल हो रहे हैं. अब तक काजोल, कंगना रनौत, फरहान अख्तर, हंसल मेहता, प्रियंका चोपड़ा, वरुण धवन और सोनम कपूर समेत कई अन्य बॉलीवुड हस्तियां सामने आई हैं. सोशल मीडिया पर भी इसको लेकर काफी बहस हो रही है.