नई दिल्‍ली: पिछले कुछ दिनों से फिल्मी जगत में यौन शोषण के खिलाफ चल रहे #MeToo मूवमेंट की वजह से उथल-पुथल मची हुई है. इस कैंपेन के चलते कई बड़ी-बड़ी बॉलीवुड हस्तियों पर यौन शोषण के आरोप लगे हैं और अब इस कड़ी में कॉमेडियन-लेखक वरुण ग्रोवर का भी नाम आ गया है. तनुश्री दत्ता द्वारा एक्‍टर नाना पाटेकर पर लगाए गए यौन शोषण के आरोपों के बाद बॉलीवुड इंडस्‍ट्री की कई महिलाओं ने अपने साथ हुई ऐसी घटनाओं का जिक्र किया है. इन मामलों में अभी तक 'क्‍वीन' के निर्देशक विकास बहल, एक्‍टर रजत शर्मा, कैलाश खेर, चेतन भगत और आलोकनाथ जैसे एक्‍टर्स का नाम आ चुका है.

बता दें कि मंगलवार को कॉमेडियन-स्‍क्रीनराइटर वरुण ग्रोवर पर भी एक महिला ने अभद्र व्‍यवहार का आरोप लगाया है. लेखिका हर्निद कौर ने ट्विटर पर पीड़ि‍ता के साथ वरुण की चैट के स्क्रीन शॉट्स शेयर किए हैं.
हालांकि वरुण ने इन आरोपों के खिलाफ तुरंत प्रतिक्रिया देते हुए इन्‍हें पूरी तरह नकार दिया है. वरुण ने ट्वीट कर लिखा, 'मैं अपने ऊपर लगाए हुए आरोपों का पूरी तरह से खंडन करता हुं. जो स्क्रीन शॉट्स शेयर किए गए हैं वह पूरी झुठे है, गलत हैं और साथ ही अपमानजनक हैं. मैं जल्द ही इस पूरे मामले पर अपना बयान जारी करुंगा.' इसके कुछ ही देर बाद वरुण ग्रोवर ने अपना आधिकारिक बयान भी जारी कर दिया है. वरुण ने अपने चार पेज के इस बयान में बीएचयू यूनिवर्सिटी के दौरान की उस सारी घटना को बयां किया है. साथ ही उन्‍होंने यह भी जाहिर किया है कि इस तरह की झूठे आरोपों से इस बेहद संवेदनशील कैंपेन को एक धक्‍का लगेगा, जो नहीं होना चाहिए.
वहीं दूसरी तरफ निर्देशक अनुराग कश्‍यप ने वरुण का इस मामले में पूरी तरह समर्थन करते हुए अपने ट्विटर पर लिखा है, 'यह शख्‍स मेरे इतने नजदीक है और मैं इसे इतने लंबे समय से जानता हूं कि मैं इस पर लगे ऐसे किसी भी आरोप को पूरी तरह खारिज करता हूं. पीड़ित पर विश्‍वास करो और ऐसे आरोपों की जांच करो, लेकिन यह भी ध्‍यान रखें कि कहीं ऐसे स्‍वहित के लिए लगाए जा रहे आरोप इस बेहद जरूरी और अहम कैंपेन को कमजोर न कर दे.'
वरुण ग्रोवर को फिल्‍म 'दम लगा के हैइशा' के गाने 'मोह मोह के गाने' को राष्‍ट्रीय पुरस्‍कार मिल चुका है.