हांगकांग : अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप की एक टिप्‍पणी और अमेरिका के वाल स्ट्रीट से लेकर एशियाई शेयर बाजार बारी-बारी से डोल गए. पहले वाल स्‍ट्रीट में गिरावट आई और इसका असर कुछ ही घंटों में गुरुवार सुबह एशियाई शेयर बाजारों पर भी दिखा. जापान, हॉन्‍गकॉन्‍ग और शंघाई के शेयर बाजारों में भारी गिरावट देखी गई. भारत में सेंसेक्स तो 1,000 अंक से अधिक नीचे चला गया. 

क्‍या कहा था राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने 
ट्रंप ने कुछ घंटों पहले ऐसी टिप्‍पणी की थी, जिससे पूरी दुनिया के शेयर बाजार लगभग हिल से गए. अमेरिका के फेडरल रिजर्व की नीतिगत ब्याज दरों में बढ़ोत्‍तरी की योजना को अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ‘अति उत्साही कार्रवाई’ करार दिया था. इससे वाल स्ट्रीट (अमेरिका का शेयर बाजार) में भारी उथल-पुथल रही. बुधवार को इसमें लगभग 830 अंक की गिरावट रही जो पिछले 7 महीनों का सबसे बड़ा नुकसान है. जापान के निक्की 225, हॉन्‍गकॉन्‍ग के हैंगसैंग और चीन के शंघाई कंपोजिट सभी में 3 प्रतिशत से अधिक की गिरावट दर्ज की गई है.

बीएसई सेंसेक्‍स में 1000 अंक की गिरावट
एशिया के सबसे पुराने शेयर बाजार बीएसई सेंसेक्स में भी शुरुआती कारोबार में 1,000 अंक से अधिक की गिरावट देखी गई. इसके अलावा पेरिस और फ्रैंकफर्ट के शेयर बाजारों में दो प्रतिशत की गिरावट आई है. वहीं लंदन स्टॉक एक्सचेंज भी 1.3% गिरा है.
इन शेयरों में दिखी सबसे ज्यादा गिरावट
सेंसेक्स पर 30 में से 29 शेयरों में लाल निशान में कारोबार हो रहा था. इंफोसिस, SBI, मारुति, HUL, भारती एयरटेल, HDFC, TCS, RIL, कोटक बैंक, ICICI बैंक, HDFC बैंक, ITC में 3 फीसदी तक की गिरावट देखने को मिली. सिर्फ ओएनजीसी में 2.70 फीसदी की तेजी नजर आ रही है. इसके अलावा इंडियाबुल्स हाउसिंग, बजाज फाइनेंस, बजाज फिनसर्व, एक्सिस बैंक, आयशर मोटर्स, यस बैंक, वेदांता, टाटा स्टील और महिंद्रा एंड महिंद्रा में 8 फीसदी की गिरावट देखने को मिली है.