इंजीनियरिंग के छात्र द्वारा ब्लड प्रेशर की 170 गोलियां खाकर खुदकुशी कि घटना
भोपाल। अयोध्या नगर में रहने वाले इंजीनियरिंग के छात्र द्वार ब्लड प्रेशर की 170 गोलियां खाकर खुदकुशी करने के सही कारणो का फिलहाल खुलासा नही हो पाया है। अफसरो के अनुसार मृतक छात्र के मोबाईल फोल कि डिटेल खंगालने के साथ ही अन्य बिदुओ कि जांच कि जा रही है, और जांच पुरी होने पर ही खुदकूशी के असल कारणो का पता लग सकेगा। हालांकि प्रारंभिक जांच मे छात्र द्वारा आत्महत्या का कारण डिप्रशन सामने आ रहा है। मामले मे अयोध्या नगर पुलिस के अनुसार मूलतः शिवपुरी का निवासी 25 वर्षीय राहुल भार्गव बसंल कॉलेज में बीई फाइनल ईयर का छात्र था। उसके पिता दिनेश भार्गव शिवपुरी में शिक्षक हैं। राहुल ने मंगलवार शाम साढ़े चार के बजे ब्लड प्रेशर की 170 गोलियां खा ली थी। जब उसकी तबीयत बिगड़ी तो उसने अपने दोस्त को फोन पर मैसैज भेजा इसके बाद उसे पास के ही एक निजी अस्पताल में ले जाया गया। जहां राहुल ने बताया कि उसने बीपी की 170 गोलियां खा ली हैं। इसके बाद डाक्टरों ने उसे हमीदिया अस्पताल के लिए रेफर कर दिया था। जहां उसकी मौत हो गई। जानकारी के अनुसार राहुल परिवार का इकलौता लड़का था। उसके पिता उसे पीएससी पास कराकर बढे पद पर नौकरी कराना चाहते थे। लेकिन वह आठ साल में इंजीनियरिंग की ही पढाई पूरी नहीं कर पाया था। बार-बार उसके पेपर पर बैक लग रहा था। जांच मे सामने आया कि राहुल की छोटी बहन बुलबुल इंदौर में पीएससी की तैयारी कर रही है। पुलिस जांच में सामने आया है कि दो माह पहले राहुल इंदौर में अपनी बहन के पास गया था। लेकिन बहन और भाई में क्या हुआ पता नहीं चला है। सात दिन पहले ही वह भोपाल आया और राज सम्राट कॉलोनी अयोध्या नगर में किराए के मकान में रहने लगा था। बताया गया है कि अपने कैरियर को लेकर ज्यादा सोचने के कारण उसे बीपी हो गया था। अयोध्या नगर पुलिस के अनुसार पैटर्न लॉक होने के कारण राहुल का मोबाइल नहीं खुल पाया था, जिसके लिये सायबर सेल कि मदद ली जा रही है। वही पुलिस उसके परिजनो ओर दोस्तो के भी ब्यान दर्ज करेगी, जिसके बाद ही खुदकूशी के कारणो का खुलासा हो सकेगा।