मॉस्को: अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन (ISS) के लिए रवाना हुए एक सोयुज रॉकेट के चालक दल के दो सदस्यों को गुरुवार को आपात स्थिति में उतरने के लिए मजबूर होना पड़ा और वे सुरक्षित बताए जा रहे हैं. रूसी समाचार एजेंसियों ने यह खबर दी. यह घटना पहले से समस्याओं का सामना कर रहे रूसी अंतरिक्ष उद्योग के लिए एक बड़ा झटका है. इंटरफैक्स समाचार एजेंसी की खबर के मुताबिक नासा के सदस्य निक हेग और रूसी अंतरिक्ष एजेंसी के एलेक्सी ओवचिनिन कजाखस्तान में आपात स्थिति में उतरे. उन्हें कोई चोट नहीं आई है.

ओवचिनिन की यह दूसरी अंतरिक्ष यात्रा थी. रूसी अंतरिक्ष एजेंसी रॉसकॉसमॉस ने ट्विटर पर लिखा, ‘‘आपात बचाव प्रणाली ने काम किया, यान कजाखस्तान में उतरने में सफल रहा. चालक दल के सदस्य सही सलामत हैं.’’ 

अंतरिक्ष एजेंसी ने कहा कि दोनों जमीनी नियंत्रण कक्ष के संपर्क में हैं. पिछले कुछ सालों में रूसी अंतरिक्ष उद्योग कई समस्याओं से गुजरा है जिनमें कई उपग्रहों एवं दूसरे अंतरिक्ष यान का नुकसान शामिल है. रॉकेट भारतीय समयानुसार देर रात दो बजकर 10 मिनट पर कजाखस्तान के बैकानुर अंतरिक्षयान प्रक्षेपण केंद्र से प्रक्षेपित किया गया था. 

ह्यूस्टन स्थित अभियान के नियंत्रण केंद्र से नासा के सीधे प्रसारण पर एक ‘वॉयस ओवर’ में कहा गया है, ‘‘प्रथम चरण की प्रक्रिया (सेपरेशन) के कुछ सेकेंड के बाद प्रक्षेपण के बूस्टर (रॉकेट) में समस्या आ गई और हम अब इस बात की पुष्टि कर सकते हैं कि चालक दल के सदस्यों ने ‘बैलिस्टिक डीसेंट मोड’ में जाना शुरू कर दिया है.’’ 

नासा ने बाद में कहा कि चालक दल सही हालत में है और कजाखस्तान के झेज्काजगन शहर के पूर्वी हिस्से में उतरने के बाद बचाव दल कर्मियों से बातचीत कर रहे हैं. रूसी अंतरिक्ष एजेंसी के एक सूत्र ने बताया कि बचाव दल कर्मी, चालक दल के पास पहुंच चुके हैं. रूस की सरकार ने भी चालक दल के दोनों सदस्यों के सुरक्षित होने की पुष्टि की है.

रूसी राष्ट्रपति कार्यालय के प्रवक्ता दमित्री पेस्कोव ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘भगवान का शुक्र है कि दोनों अंतरिक्ष यात्री जीवित हैं.’’ रॉसकॉसमोस के प्रमुख दमित्री रोगोजिन ने ट्विटर पर लिखा कि उन्होंने एक सरकारी आयोग को हादसे की जांच करने का आदेश दिया है.