हैदराबाद: तेलंगाना में गुरुवार को बड़ा राजनीति घटनाक्रम देखने को मिला. तेलंगाना में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सी. दामोदर राजनरसिम्हा की पत्नी और सामाजिक कार्यकर्ता पद्मिनी रेड्डी सुबह बीजेपी में शामिल हुई लेकिन देर रात फिर से कांग्रेस में लौट आईं. राजनरसिम्हा अविभाजित आंध्रप्रदेश में तत्कालीन मुख्यमंत्री एन. किरण कुमार रेड्डी के मंत्रिमंडल में उपमुख्यमंत्री थे. राजनरसिम्हा वर्तमान में तेलंगाना चुनाव में कांग्रेस के घोषणापत्र की समिति के प्रभारी हैं.

राजनरसिम्हा की वरिष्ठता को देखते हुए, पद्मिनी के बीजेपी में शामिल हो जाने से कांग्रेस को बड़ी शर्मिंदगी का सामना करना पड़ रहा था. जाहिर है बीजेपी के लिए यह बहुत बड़ा मौका था. बीजेपी में पद्मिनी रेड्डी का स्वागत करते हुए राज्य इकाई के अध्यक्ष के. लक्ष्मण ने कहा कि मेडक क्षेत्र में सामाजिक कार्यों और महिलाओं के बीच कार्यों के माध्यम से उन्होंने काफी ख्याति अर्जित की है.

उन्होंने कहा कि पद्मिनी रेड्डी एनडीए सरकार के अच्छे कार्यों की सराहना करती हैं इसलिए वह पार्टी में शामिल हुई हैं. लक्ष्मण ने कहा कि एनडीए सरकार ने महिलाओं के हितों में कई कदम उठाए जिसमें ‘सुकन्या समृद्धि योजना’, मातृत्व छुट्टी में बढ़ोतरी आदि शामिल हैं. बीजेपी महासचिव पी. मुरलीधर राव ने पद्मिनी के पार्टी में शामिल होने से जुड़ा ट्वीट भी किया. 

राव के ट्वीट पर मची कांग्रेस में खलबली 
राव के ट्वीट के बाद कांग्रेस खेमे में खलबली मच गई. पूरा आलाकमान रेड्डी को मनाने पर जुट गया. बीजेपी की खुशियां जल्द ही काफूर हो गईं देर रात वह फिर से अपनी पुरानी पार्टी कांग्रेस में आ गईं. पद्मिनी रेड्डी में घर वापसी पर कहा कि उन्होंने पार्टी में वापस लौटने का निर्णय लिया क्योंकि उनके कार्यकर्ता दुखी थे.