नई दिल्ली : मध्यप्रदेश विधानसभा चुनावों के लिए सोमवार को बीजेपी की कथित तीसरी लिस्ट वायरल हो गई. इस लिस्ट में बीजेपी ने 9 उम्मीदवारों के नाम थे. हालांकि बाद में न्यूज एजेंसी एएनआई ने इसे गलत बता दिया गया. इसमें सबसे प्रमुख नाम बीजेपी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय और उनके बेटे आकाश विजयवर्गीय का था. लेकिन थोड़ी देर बाद ही ये लिस्ट ये कहते हुए वापस हो गई कि ये गलत लिस्ट है. आखिरी सूची का इंतजार है. इससे पहले सोमवार को ही बीजेपी ने दूसरी लिस्ट में 17 उम्मीदवारों के नाम घोषित किए थे. 

बीजेपी 177 उम्मीदवारों के नाम पहले ही जारी कर चुकी है. बीजेपी की दूसरी सूची में बड़ा नाम अनूप मिश्रा का रहा. अटल बिहारी वाजपेयी के भांजे अनूप मिश्रा को भितरवार से टिकट दिया गया. दिवंगत दिलीप सिंह भूरिया की बेटी निर्मला भूरिया को पेटलावद से टिकट दिया गया है.
क्यों फंसा तीसरी लिस्ट पर पेंच
खुद को वंशवाद के खिलाफ दिखाने की होड़ में बीजेपी ने अपने कई कद्दावर नेताओं के टिकट काटे हैं. हालांकि उनकी जगह उनके परिजनों को टिकट मिल गया है. तीसरी लिस्ट पहली ऐसी सूची थी, जिसमें पिता पुत्र का नाम एक साथ था. कैलाश विजयवर्गीय को महू और उनके बेटे आकाश को इंदौर-3 से टिकट दिखाया गया था. अभी तक बीजेपी ने जिन दो लिस्ट को जारी किया है, उसमें एक परिवार को एक ही टिकट मिला है.


दूसरी सूची में बीजेपी सांसद अनूप मिश्रा का नाम
इससे पहले बीजेपी ने अपनी दूसरी सूची में 17 उम्मीदवारों के नाम घोषित कर दिए. इसमें सबसे महत्वपूर्ण नाम मुरैना से सांसद और अटल बिहारी वाजपेयी के भांजे अनूप मिश्रा का है, जिन्हें भितरवार से उम्मीदवार बनाया गया है. वरिष्ठ भाजपा नेता जगत प्रकाश नड्डा के हस्ताक्षर से जारी भाजपा की दूसरी सूची में भितरवार से अनूप मिश्रा, कोलारस से वीरेंद्र रघुवंशी, बिजावर से पुष्पेंद्र नाथ पाठक, जबेरा से धर्मेद्र लोधी, अनूपपुर से रामलाल रौतेल, जबलपुर उत्तर से शरद जैन, जबलपुर पश्चिम से हरजीत सिंह बब्बू, बिछिया से शिवराज शाह, निवास से रामप्यारे कुलस्ते, मुलताई से राजा पंवार, बसौदा से लीना संजय जैन, कुरवाई से हरी सप्रे, ब्यावरा से नारायण पनवार, शुजालपुर से इंद्र सिंह परमार, पेटलावद से निर्मला भूरिया, उज्जैन दक्षिण से मोहन यादव और बडनगर से जितेंद्र पंड्या को उम्मीदवार बनाया गया है.
230 विधानसभा के लिए 28 नवंबर को होने वाली वोटिंग के लिए बीजेपी अब तक कुल 194 सीटों के लिए उम्मीदवारों का ऐलान कर चुकी है. हालांकि कुछ हाईप्रोफाइल सीट पर अब तक भी पार्टी ने फैसला नहीं किया है. इनमें कुछ सीटें भोपाल की हैं.