नई दिल्ली, जी-20 सम्मलेन में भारत के हाथ एक बड़ी कामयाबी लगी है. 2022 में जी-20 सम्मेलन भारत में आयोजित होगा, जब देश अपना 75वां स्वतंत्रता दिवस मना रहा होगा.

अर्जेंटीना में चल रहे जी-20 सम्मेलन को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसका ऐलान किया. उन्होंने कहा कि 2022 में जी-20 की प्रस्तावित मेजबानी कर रहे इटली से हमने विनती की थी, जिसे इटली ने मान लिया है और अब 2021 के बजाय भारत में जी-20 सम्मेलन का आयोजन 2022 में होगा.

पीएम मोदी ने कहा कि इसके लिए मैं सभी देशों का शुक्रगुजार हूं और विश्व के सभी मुल्क को 2022 में भारत आने के लिए आमंत्रित करता हूं.

इससे पहले पीएम मोदी ने साउथ अफ्रीका के राष्ट्रपति  सिरिल रमफोसा के साथ मुलाकात की थी. मोदी ने उन्हें 2019 के गणतंत्र दिवस परेड में बतौर मुख्य अतिथि शामिल होने का न्यौता दिया था. इसे अफ्रीकी राष्ट्रपति ने स्वीकार कर लिया है.

बता दें, आर्थिक और कूटनीतिक मामलों के लिए जी-20 काफी अहम संस्था है. यह विश्व की 20 प्रमुख अर्थव्यवस्थाओं के वित्त मंत्रियों और केंद्रीय बैंक के गवर्नर्स का एक संगठन है, जिसमें भारत, अमेरिका, फ्रांस, जर्मनी, इटली समेत 19 देश और यूरोपीय संघ शामिल हैं.