जयपुर। बाल विवाह जैसे सामाजिक प्रथा के खिलाफ भले ही बुलंद आवाज उठाई जा रही हो लेकिन अभी भी ये प्रथा पूरी तरह बंद नहीं हुई है। लड़के और लड़की की शादी की उम्र भले ही कानूनी रूप से तय हो लेकिन फिर भी इस तरह के मामले सामने आ जाते हैं जहां नियम-कानून को तोड़ा जा रहा हो। कुछ ऐसा ही राजस्थान के बांसवाड़ा में हुआ।
बांसवाड़ा के रहने वाले एक प्रेमी जोड़े का प्यार शादी तक नहीं पहुंच पाया क्योंकि उनकी उम्र शादी के लायक नहीं थी लेकिन इस शादी को पूरा करने की और गिरफ्तारी से बचने की भरसक कोशिश हुई। इस प्रेमी जोड़े ने अपने परिवारवालों को शादी के लिए राजी तो कर लिया लेकिन शादी के ही दिन जैसे ही चाइल्ड लाइन के पास यह खबर पहुंची को अधिकारी शादी रूकवाने पहुंच गए। दूल्हा तो खेत में भाग गया, वहीं इसे घटना को दबाने और अधिकारियों को धोखा देने के लिए दुल्हन की मां ने शादी का जोड़ा पहना और ऐसे जताया कि जैसे वही दुल्हन है। हालांकि सच सामने आ गया और शादी रोक ली गई।
यह घटना चित्र डुंगरी में हुई जहां 16 साल की लड़की की शादी घलकीया गांव के 20 साल के लड़के से की जा रही थी। रस्में चल रही थी तभी एकीकृत बाल विकास योजना की टीम पहुंची। गिरफ्तारी से बचने के लिए दूल्हे ने अपने साफा फेंका और खेतों की तरफ भाग गया। लड़की की मां ने दुल्हन की तरह खुद को पेश किया लेकिन सच छुप न सका।