मुंबई, महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) प्रमुख राज ठाकरे ने सोमवार को सनसनीखेज दावा किया है कि राम मंदिर को लेकर केंद्र सरकार और असदुद्दीन ओवैसी के बीच सांठगांठ है. उन्होंने दावा किया है कि सरकार मंदिर के मुद्दे पर दंगे कराना चाहती है. राज ठाकरे मुंबई के विक्रोली में पार्टी के एक कार्यक्रम में लोगों को संबोधित कर रहे थे.

राज ठाकरे ने यह भी दावा किया है कि उन्हें दंगे का मॉड्यूल बताने के लिए दिल्ली से फोन आया था. उन्होंने कहा है कि इस सुबह उनके पास दिल्ली से फोन आया जो कि बहुत ही गंभीर था. मनसे प्रमुख के मुताबिक, आने वाले दिनों में राम मंदिर के नाम पर दंगे होंगे और इसके लिए औवेसी के साथ बातचीत है.

उन्होंने कहा है कि मौजूदा सरकार के पास दिखाने के लिए अपना कोई ठोस काम नहीं है. इसलिए सरकार के पास हिंदुओं और मुस्लिमों के बीच दंगा कराने के अलावा कोई चारा नहीं बचा है.

आगे उन्‍होंने कहा कि इसके ट्रेलर के तौर पर आपने बिना बालों वाला भगवा कपड़े पहनने वाला आदमी देखा होगा (भीड़ में कोई कहता है योगी-योगी) हां, योगी .. मुझे हमेशा लगता है कि क्या वह एक सीएम है. आज तक राज्य के विकास को लेकर उसने एक भी शब्द नहीं बोला है. वह हमेशा जाति और धर्म के बीच नफरत की बात करता है. ऐसे ही एक दिन उन्हें पता चला कि हनुमान दलित थे. क्या हमने कभी राम या हनुमान की जाति सोची है?

राज ठाकरे ने कहा कि आने वाले दिनों में राजनीति किस दिशा में जा रही है, आप इसका अनुमान लगा सकते हैं. आप ओवैसी के बारे में जो भी कहा वह तो शुरुआत है. मैं आपको आगाह कर रहा हूं कि नजर बनाए रखिए. मैं भगवान से प्रार्थना करता हूं कि कोई दंगे न हों. लोगों के साथ पुलिस को भी इस मामले में सतर्क रहना चाहिए.