बेंगलुरू: बल्लारी के पूर्व बीजेपी सांसद के एक वफादार और दुबई के एक कारोबारी के बीच कथित संवाद वाला एक ऑडियो क्लिप सामने आने के बाद भगवा पार्टी पर कर्नाटक में कांग्रेस-JDS सरकार गिराने की कोशिशों के आरोप लगे हैं. वायरल हुए ऑडियो में वफादार को कुछ खास नामों का उल्लेख कर यह कहते हुए सुना जा सकता है कि कांग्रेस और जद(एस) के कम से कम 10 से 11 विधायक पाला बदलने को तैयार हैं. ऑडियो में वफादार को कथित तौर पर यह कहते हुए सुना जा सकता है, ‘‘उन्हें 20 से 25 करोड़ रूपये और मंत्री पद की पेशकश की गयी है. दूसरे हफ्ते तक यह हो जाएगा.’’ 

इसके बाद एक और वीडियो सामने आया है, जिसमें कांग्रेस विधायक सतीश जरकिहोली बेलगावी में एक रिसॉर्ट जाते हुए नजर आए जिससे असंतुष्ट विधायकों को वहां पर ले जाने के संभावित कदम को लेकर अटकलें लगने लगी. पूछे जाने पर जरकिहोली ने पाला बदलने की किसी भी योजना से इंकार किया, हालांकि उन्होंने माना कि कांग्रेस में कम से कम सात आठ असंतुष्ट विधायक हैं न कि 25 विधायक. उन्होंने कहा, ‘‘25 असंतुष्ट नहीं है. मुश्किल से सात-आठ लोग हैं लेकिन मैं उनमें से नहीं हूं. शुरूआत से मैं कह रहा हूं कि मैं केवल यहीं (कांग्रेस में) रहूंगा.’’ 
ऑडियो में नाम आने के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, ‘‘इसमें कुछ नया नहीं है. यह स्वभाविक है कि ऐसी (सरकार गिराने की) कोशिशें होती हैं. हमारी तरफ से वहां (बीजेपी में) कोई नहीं जाएगा. कुछ असंतुष्ट हैं लेकिन वे पार्टी छोड़कर नहीं जाएंगे.’’ रिसॉर्ट जाने के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, ‘‘हम भविष्य की येाजनाओं के लिए एक रिसार्ट देख रहे हैं. हम अपने विधायकों को वहां ले जाना चाहते हैं. पाला बदलने के लिए नहीं बल्कि उनसे बातचीत के लिए.’’ 
कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस-JDS कोर्डिनेशन कमेटी के संयोजक सिद्धरमैया ने सरकार गिराने के कथित प्रयासों के लिए बीजेपी पर हमला किया. उन्होंने दावा किया, ‘‘ये लोग पहले दिन से ही अनैतिक तरीके से सत्ता में आने का प्रयास कर रहे हैं. एक बार नाकाम हो चुके हैं. अब वे (बीजेपी) फिर से धन लगाने का प्रयास कर रहे हैं.’’ बीजेपी पर हमला करते हुए सिद्धरमैया ने कहा ‘‘अगर वे कह रहे हैं कि (हर विधायक) को 25 करोड़ रूपये देंगे तो इतने पैसे कहां से लाएंगे. किसका धन है ? यह भ्रष्टाचार का धन है.’’ बीजेपी के महासचिव एन रवि कुमार ने ऑडियो को ‘‘फर्जी’’ बताया और कहा कि कांग्रेस और जद (एस) खुद को कायम रखने के लिए इस तरह के झूठे ऑडियो तैयार कर रहे हैं.