अभी तक बहुत से लोग ये मानने को तैयार ही नहीं है कि प्रियंका चोपड़ा 36 साल की हैं और निक जोनस 26 साल के और एक दूसरे को काफी दिनों से डेट करने के बाद दोनों शादी के बंधन में बंध गए हैं। वैसे देखा जाए तो प्रियंका और निक पहले कपल नहीं हैं जिन्होंने 10 साल के एज गैप के बावजूद शादी की है। क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर भी अपनी पत्नी अंजली से 6 साल छोटे हैं तो वहीं फराह खान और शिरिष कुंदर के बीच भी 8 साल का एज गैप है। 
अपने से कम उम्र के पार्टनर को डेट करना एक स्मार्ट डिसीजन हो सकता है। कई रिसर्च में ये पाया गया है कि जो महिलाएं खुद से कम उम्र के पार्टनर से शादी करती हैं वे अपने से ज्यादा उम्र के पार्टनर से शादी करने वालों की तुलना में ज्यादा बेहतर जिंदगी जीती हैं। इसके पीछे बहुत से कारण हैं जो कि हम आपको बता रहे हैं... 
खुद से कम उम्र के व्यक्ति से शादी करने का ये मतलब नहीं है कि अगर उसे अपने उम्र का पार्टनर मिल गया तो वो आपको छोड़कर चला जाएगा ,लेकिन ज्यादातर लोग ऐसा सोचते हैं, लेकिन स्थिति बिल्कुल अलग है। 2015 की जर्नल ऑफ मैरिज एंड फैमिली की एक स्टडी के अनुसार कम उम्र के पार्टनर लंबी कमिंटमेंट के लिए ज्यादा तत्पर रहते हैं। इस तरह के रिश्ते केवल अचानक से लिए हुए डिसीजन नहीं होते, बल्कि लंबे समय तक चल सकते हैं। 


करियर के लिए बेहतर हो सकता है

एक कम उम्र का पार्टनर आपको अपने करियर में जो भी सफलता प्राप्त हुई है उसकी प्रशंसा करता है और करियर में और ऊंचाई तक पहुंचने के लिए आपको प्रोत्साहित भी करता है। स्टडीज में पाया गया है कि जो महिलाएं कम उम्र के पार्टनर को डेट करती हैं वे अपने करियर में अधिक सफलता प्राप्त करती हैं। एक इंटरनैशनल मैगजीन को दिए इंटरव्यू में प्रियंका चोपड़ा ने कहा, 'निक ने मेरे करियर और ऐम्बिशन को काफी अप्रिशिएट किया जबकि ऐसा बहुत कम ही होता है। 
बच्चे पैदा करने में भी आसानी

2014 के जर्नल फर्टिलिटि एंड स्टर्लिटी की एक स्टडी में ये पाया गया कि वे महिलाएं ज्यादा आसानी से प्रेंगनेंट होती हैं जिनके पार्टनर उम्र में उनसे छोटे हैं। जो कि उन सभी लोगों के लिए खुशखबरी है जो अपने से कम उम्र के पार्टनर को डेट कर रही हैं।

कम उम्र के पार्टनर जानते हैं कि आप खूबसूरत हैं
कम उम्र के पुरुष बड़ी उम्र की महिलाओं की ओर ज्यादा अट्रैक्ट होते हैं क्योंकि वे जानते हैं कि ये महिलाएं इंडिपेन्डेंट और कॉन्फिटडेंट होती हैं। उनके पास जिंदगी का ज्यादा तजुर्बा होता है जिससे वे हर सिचुएशन को ज्यादा maturely हैंडल करती हैं।