नई दिल्ली, अंतरिक्ष के क्षेत्र में भारत को एक और बड़ी कामयाबी मिली है. भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संस्थान (ISRO) ने बुधवार सुबह अब तक के सबसे भारी सैटेलाइट GSAT-11 को लॉन्च किया. इस उपग्रह को दक्षिण अमेरिका के फ्रेंच गुयाना स्पेस सेंटर से फ्रांस के एरियन-5 रॉकेट कीमदद से लॉन्च किया गया.

आपको बता दें कि इसरो का यह अब तक का सबसे ज्यादा वजनी सैटेलाइट है जिसका वजन 5,845 किलोग्राम है. भारतीय समयानुसार देर रात 2.07 AM और 3.23 AM के बीच इस सैटेलाइट को लॉन्च किया गया.
इसे इसरो की एक बड़ी कामयाबी माना जा रहा है. इससे भारत में इंटरनेट की गति बढ़ाने में मदद मिलेगी. कहा जा रहा है कि ये कामयाबी टेलिकॉम सेक्टर के लिए वरदान साबित हो सकता है, क्योंकि इसकी मदद से इंटरनेट की गति 14 GBPS तक हो सकती है. 

गौरतलब है कि ISRO GSAT-19 और GSAT-29 सैटेलाइट्स को पहले ही लॉन्च कर चुका है. इनके अलावा GSAT-20 को अगले साल लॉन्च किया जाना है.

क्या हैं इस सैटेलाइट की खूबियां?

- इस सैटेलाइट की लाइफ 15 साल है, इसमें एक सोलर पैनल भी लगा है.

- इंटरनेट की स्पीड 14GBPS तक करने की क्षमता.

- नेक्सट जेनरेशन प्लेटफॉर्म तैयार करने वाली क्षमताएं.