चुनाव पूर्व आपराधिक गतिविधियों की रोकथाम में निर्वाचन विभाग का अभियान रंग ला रहा है. निर्वाचन विभाग की फ्लाइंग स्कवाड टीमों ने राज्य भर में 47 करोड़ 67 लाख 99 हजार 848 की कीमत की अवैध राशि और सामान जब्त किया है. इनमें साढ़े 14 करोड़ से ज्यादा की नकदी शामिल है. राज्य निर्वाचन विभाग के आंकड़ो के अनुसार 2 लाख 11 हजार 869 गैर जमानती वारंट तामील हो चुके हैं.

मतदान की तारीख नजदीक आते ही राज्य निर्वाचन विभाग ने प्रदेश के सभी जिला कलेक्टरों को राजनीतिक कार्यक्रमों पर नजर रखने की सख्त हिदायत दी है. 6 अक्टूबर को प्रदेश में आचार संहिता लगने के साथ ही हर गतिविधि पर नजर रखी जा रही है. निर्वाचन विभाग के अधिकारियों के अनुसार आचार संहिता लगने के साथ ही आपराधिक तत्वों की धरपकड़ शुरू कर दी गई थी.

एक नजर में बरामदगी व हिंसा रोकने के लिए गतिविधियां 

-अब तक 2 लाख 11 हजार, 869 गैर जमानती वारंट तामील
-1 लाख, 58 हजार, 331 लाइसेंस हथियार जमा

-अब तक 14 करोड़, 50 लाख 5785 कह नगद राशि बरामद
-3 लाख, 86 हजार लीटर अवैध शराब बरामद

-525 किलो गांजा, 20 किलो अफीम बरामद

-22739 किलो डोडा-पोस्त बरामद

-3884 किलो ग्राम भांग बरामद

-4 लाख, 47 हजार, 920 टेबलेट बरामद

-88 लीटर कोरेक्स सीरप बरामद

-37490 नशीली दवाईया और 980 कैप्सूल जब्ज

-559 किलोग्राम चांदी के आभूषण

-17 किलोग्राम सोने के आभूषण

-97 कार, 43 बाइक्स और 30 ट्रक बरामद
भारत निर्वाचन आयोग के निर्देश पर राज्य निर्वाचन विभाग राजनीतिक दलों के कार्यक्रमों के खर्च को राजनीतिक दलों के खाते में शामिल करेगा. धनबल और बाहुबल को रोकने के लिए राजनीतिक दलों के कार्यक्रमों को वीडियो कैमरे में कैद किया जा रहा है. राज्य निर्वाचन विभाग के स्तर से हर चुनावी सभा समेत चुनाव प्रचार सामग्री व हर गतिविधि पर नजर पैनी नजर रखी जा रही है.