जबलपुर। शहपुरा के बरमबाबा में हुई व्यापारी की अंधी हत्या की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली है। पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है जिसमें एक नाबालिग भी शामिल है। पुलिस ने बताया कि आरोपियों की रंजिश व्यापारी के भतीजे से थी, जिसे मारने के लिए आरोपी मकान में दाखिल हुए थे। इस दौरान व्यापारी जाग गया। जिससे उन्होंने व्यापारी को हंसिया से मार दिया और आग लगा दी। 
पुलिस अधीक्षक अमित सिंह ने बताया कि २६ नवम्बर को बरमबाबा स्थित मंगल उर्फ राजकुमार जैन के मकान में आग लगने की सूचना मिली थी। मौके पर पहुंची पुलिस को मंगल जैन का शव अधजली अवस्था में मिला। कमरे में चिल्लर और जेवर भी िमले थे। जिससे यह लग रहा था कि हत्या लूट की वजह से की गई थी। मामले की सघन जांच की गई तो सीसीटीवी में दो लोगों को घर से निकलते देखा गया। जिनकी तलाश शुरू की गई।
पीएम रिपोर्ट से सच आया सामने ..............
पीएम रिपोर्ट में यह पता चला कि मंगल उर्फ राजकुमार जैन की हत्या की गई थी। सिर में चोट लगने से उसकी मौत हो गई थी जिसके बाद शरीर को जलाया गया था। पीएम रिपोर्ट में हत्या की बात पुख्ता होने के बाद पुलिस ने संदिग्धों को तलाशना शुरू किया तो पता चला कि एक युवक और एक किशोर फरार हैं। जिन्हें मुखबिर की सूचना पर गिरफ्तार किया गया। दोनों ने अपना जुर्म कबूल कर लिया है।
ऐसे गिरफ्तार किया ...........
मामले में एक १९ वर्षीय युवक और एक १७ वर्षीय किशोर पर शक था। पुलिस को सूचना मिली कि संदेही चीना उर्फ शुभम श्रीवास्तव उम्र १९ वर्ष तथा उसका साथी किशोर शहपुरा भिटौनी स्टेशन में ट्रेन से उतरकर घर की ओर गये हैं। तत्काल दबिश देते हुए चीना उर्फ शुभम श्रीवास्तव को भिटौनी स्टेशन के पास से गिरफ्तार किया गया। वहीं १७ वर्षीय किशोर को बस स्टैंड से गिरफ्तार किया गया। पूछताछ में दोनों ने अपना जुर्म कबूल कर लिया है।
इसलिए की थी हत्या .........
पकड़े गए दोनों आरोपियों ने पुलिस को बताया कि राजकुमार जैन के भतीजे विक्की जैन ने धमकी दी थी कि यहां दिखे तो जान से मार देंगे। विक्की जैन को मारने के लिये घटना दिनांक को दोनों ने अन्नीrलाल मेहरा के खेत की बाडी से लोहे की सब्बल लाकर सबसे पहले दुकान की शटर का ताला तोड़ा। सब्बल को मण्डी रोड पर रख कर पुन: दुकान पर जाकर शटर उठाई व दोनो अंदर चले गये। दुकान के उâपर जाने पर कमरे में सोये मंगल उर्फ राजकुमार जैन के जाग जाने एवं चिल्लाने पर चीना का साथी किशोर मकान के पिछले हिस्से से कूदकर भाग गया। मंगल उर्फ राजकुमार जैन चीना को पहचानते थे, चीना को डर था कि यदि नहीं मारा तो उसे फंसा देंगे। यह सोचकर चीना श्रीवास्तव ने हंसिया से मंगल उर्फ राजकुमार जैन की गर्दन पर वार किए। मंगल जैन के नीचे गिर जाने पर चीना ने बिस्तर के पास रखी गैस टंकी को उठाकर मंगल जैन के सिर पर ३-४ बार पटका। जिससे मंगल जैन की मृत्यु हो गई। चीना ने घर में गोदरेज की आलमारी से सोने चांदी के जेवरात निकाले और मंगल जैन के ऊपर बिस्तर के गद्दा-पल्ली डाल कर आग लगा दी।
लूट के माल का बटवारा किया .............
चीना लूटा हुआ माल व दो थैलों में चिल्लर लेकर दुकान की शटर से निकल कर मण्डी तरफ से अपने घर जा रहा था कि रास्ते मे १७ वर्षीय किशोर मिल गया। जिसे चीना ने माल का एक थैला दिया तो साथी किशोर अपने घर लेकर चला गया। चीना भी अपने घर पहुंचा एवं घटना में उपयोग किया हुआ हंसिया तथा थैला अपने घर की बिस्तर पेटी मे छुपा दिये।
बरामद की गई सामग्री .........
लूट के आरोपियों से पुलिस ने जेवर, चिल्लर और हत्या में उपयोग की गई सामग्री बरामद कर ली है। आरोपियों को पकड़ने में थाना प्रभारी शहपुरा आसिफ इकबाल, उप निरीक्षक रवि शंकर उपाध्याय, इंजन सिंह, पीएसआई अनिल कुमार, आरक्षक देवेन्द्र जाट, प्रमोद पटेल, अभिषेक कौरव, राजकुमार मिश्रा, रामनरेश राजपूत, वीरेन्द्र यदुवंशी की सराहनीय भूमिका रही। पुलिस अधीक्षक अमित सिंह ने टीम को नगद पुरस्कार देने की घोषणा की है।
ये है आरोपियों को बैकग्राउंड ........
हत्या के मामले में पकड़े गए आरोपी चीना वर्ष २०१४ में थाना शहपुरा में २ नकबजनी के प्रकरणों में १५ वर्ष की उम्र में गिरफ्तार किया गया था। शटर का ताला तोड़कर जैन मंदिर एवं किराना दुकान में उसने चोरी भी की थी। वहीं पकड़ा गया किशोर भी आरपीएफ में डीजल एवं पेट्रोल चोरी करते हुये पकड़ा जा चुका है।