काबुल: अफगानिस्तान में विशेष बलों ने पूर्वी नांगरहार प्रांत में एक ताजा अभियान में इस्लामिक स्टेट के 27 आतंकवादियों को मार गिराया. वहीं, उत्तरी अफगानिस्तान में तालिबान के हमले में 15 पुलिसकर्मी मारे गए.

प्रांतीय परिषद के सदस्य अजमल उमर के अनुसार विशेष बलों ने सोमवार को नांगरहार प्रांत के आचिन जिले में इस्लामिक स्टेट (आईएस) के आतंकवादियों को निशाना बनाया. सुरक्षाकर्मियों ने आतंकवादियों पर हेलीकॉप्टरों से भी गोलीबारी की.

आईएस का गढ़ माना जाता है नांगरहार 
नांगरहार प्रांत आईएस का गढ़ माना जाता है. यह वही जगह है जहां कुछ साल पहले आतंकी समूह की क्षेत्रीय शाखा का पहली बार पता चला था. आईएस की मीडिया शाखा अमाक समाचार एजेंसी ने कहा कि आईएस ने क्षेत्र में अफगानिस्तान और अमेरिका के संयुक्त अभियान को विफल कर दिया. 

अभियान में अमेरिकी सैनिकों के शामिल होने या न होने के बारे में उमर ने कुछ नहीं कहा. उन्होंने कहा कि मारे गए आतंकियों में आई एस के दो स्थानीय नेता सादिक यार और सैयद उमर भी शामिल हैं.

क्षेत्र के दूरदराज स्थित होने के कारण विरोधाभासी खबरों की स्वतंत्र रूप से पुष्टि नहीं हो सकी.

तालिबान के हमल में 15 पुलिसकर्मियों की मौत 
वहीं, अफगानिस्तान के उत्तरी क्षेत्र में तालिबान ने सोमवार की रात सर ए पुल प्रांत में पुलिस चौकियों पर दो भीषण हमले किए जिनमें 15 पुलिसकर्मी मारे गए और 21 अन्य घायल हो गए. सैयद जिले और सर ए पुल, प्रांतीय राजधानी के बाहर कई घंटों तक मुठभेड़ चलती रही. 

प्रांतीय परिषद के प्रमुख मोहम्मद नूर रहमानी ने कहा कि तालिबान को खदेड़ने के लिए अफगान बलों ने भारी तोपों का इस्तेमाल किया. इसके चलते स्थानीय लोग सुरक्षित स्थानों की ओर भाग गए. तालिबान के प्रवक्ता कारी यूसुफ अहमदी ने सर ए पुल प्रांत में हुए हमले की जिम्मेदरी ली.