अनूपपुर। कलेक्टर चंद्रमोहन ठाकुर ने विशेष बैठक में आज मीडिया प्रतिनिधियों को अवगत कराया कि मुख्यमंत्री फ़सल ऋण माफ़ी योजनांतर्गत अनूपपुर ज़िले के लगभग 23 हज़ार किसान लाभान्वित होंगे। इन किसानो के लगभग 50 करोड़ के अल्पक़ालीन फ़सल ऋण  राज्य सरकार द्वारा वहन किए जाएँगे।

      श्री ठाकुर ने मीडिया प्रतिनिधियों को अवगत कराया कि योजना अंतर्गत लाभ प्राप्त करने हेतु ऋण खाते में आधार नम्बर लिंक होना एवं सम्बंधित कृषक द्वारा आवेदन किया जाना अनिवार्य है। 15 जनवरी से बैंक एवं सहकारी समितियों के अनुसार  लाभान्वित कृषकों की सूचियाँ बैंक, सहकारी समिति एवं ग्राम पंचायतों में चस्पा किये जाने का कार्य प्रारम्भ कर दिया जाएगा यह कार्य 25 जनवरी तक पूर्ण कर दिया जाएगा।

     सूची दो हरे एवं सफ़ेद रंग में प्रदर्शित की जाएगी। हरी सूची उन लाभान्वित होने वाले कृषकों की होगी जिनका आधार उनके ऋण खाते से लिंक है सफ़ेद सूची में उनके नाम होंगे जिनकी आधार नम्बर की जानकारी अप्राप्त है। सफ़ेद सूची में शामिल कृषक 5 फ़रवरी के पहले अपने आधार की जानकारी सम्बंधित बैंक/संस्था में उपलब्ध करा सकते हैं। लाभ प्राप्ति हेतु आधार अनिवार्य है। ऐसे कृषक जिनका नाम दोनो सूची में नही है अथवा उन्हें सूची की जानकारी में कोई आपत्ति है तो उन्हें गुलाबी फ़ॉर्म भरना होगा।

    आपने पात्रता के बारे में जानकारी देते हुए बताया मध्यप्रदेश में निवास करने वाले ऐसे किसान जिनकी कृषि भूमि मध्यप्रदेश में स्थित है तथा मध्यप्रदेश स्थित ऋण प्रदाता संस्था की शाखा से अल्पक़ालीन फ़सल ऋण लिया हो, साथ ही प्राथमिक कृषि साख सहकारी समितियों द्वारा प्रदत्त ऋण भी योजना में शामिल रहेंगे। ऐसा किसान जिसका फ़सल ऋण रिज़र्व बैंक/ नाबार्ड के दिशा निर्देशो के अनुसार प्राकृतिक आपदाओं के कारण रीस्ट्रक्चर कर दिया गया हो वे भी इस योजना से लाभ हेतु पात्र रहेंगे।

       आपने बताया कि मान. सांसद, मान. विधायक, ज़िला पंचायत अध्यक्ष, नगरपालिका/ नगरपंचायत/ नगरनिगम के अध्यक्ष/ महापौर, कृषि उपज मंडी के अध्यक्ष, सहकारी बैंकों के अध्यक्ष, केंद्र एवं राज्य सरकार द्वारा गठित निगम, मंडल अथवा बोर्ड के अध्यक्ष तथा उपाध्यक्ष पदों के वर्तमान एवं भूतपूर्व पदाधिकारी  है पात्र नहीं होंगे। इनके अतिरिक्त समस्त आयकर दाता, भारत सरकार तथा प्रदेश सरकार के समस्त अधिकारी/ कर्मचारी तथा इनके निगम/ मंडल/ अर्धशासकीय संस्थाओं में कार्यरत अधिकारी/ कर्मचारी (चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारियों को छोड़कर), रुपए 15 हज़ार प्रतिमाह या उससे अधिक पेंशन प्राप्त कर्ता (भूतपूर्व सैनिको को छोड़कर), GST में दिनांक 12 दिसम्बर 2018 या पूर्व में पंजीकृत व्यक्ति/ फ़र्म/ फ़र्म के संचालक/ फ़र्म के भागीदार को योजनांतर्गत लाभ प्राप्त नही होगा।

          किसी भी निरर्हता की स्थिति में  फ़सल ऋण प्राप्तकर्ता किसान निरर्हत/ अपात्र होगा। उक्त निरर्हता/ अपात्रता के लिए पात्र किसान द्वारा स्वप्रमाणीकरण मान्य होगा।

           बैठक में सहायक संचालक जनसम्पर्क श्री अंकुश मिश्रा, मीडिया प्रभारी ज़िला पंचायत श्री अमित श्रीवास्तव समेत अनूपपुर ज़िले के इलेक्ट्रॉनिक एवं प्रिंट मीडिया के प्रतिनिधि उपस्थित रहे।

- अनूपपुर से प्रवीण चंद्रवंशी की रिपोर्ट