आपने अक्सर लोगों से यह कहते सुना होगा या फिर इस बारे में पढ़ा भी होगा कि फर्स्ट डेट पर सेक्स करना ठीक नहीं है क्योंकि ऐसा करने से आप डेट करने वाले व्यक्ति के संग सीरियस रिलेशनशिप डिवेलप करने के चांस को गंवा देते हैं। लेकिन हाल ही में हुई एक नई स्टडी में बताया गया है कि अगर आप फर्स्ट डेट पर या फिर शुरुआती स्टेज में ही सामने वाले व्यक्ति संग इंटिमेट हो जाते हैं तो अपने फ्यूचर पार्टनर को खोजने और एक नए रिश्ते की शुरुआत करने में मदद मिलती है। 


आकर्षण में यौन इच्छाओं का अहम रोल 
इजरायल बेस्ड इंटरडिस्प्लिनरी सेंटर (IDC)हर्ज्लिया और यूनिवर्सिटी ऑफ रोचेस्टर्स डिपार्टमेंट ऑफ क्लिनिकल ऐंड सोशल साइंसेज इन साइकॉलजी स्थित मनोवैज्ञानिकों की एक टीम ने यह स्टडी की जिसके नतीजे बताते हैं कि संभावित पार्टनर की तरफ आकर्षित होने में आपकी यौन इच्छाएं यानी सेक्शुअल डिजायर भी अहम रोल निभाती हैं। साथ ही यौन इच्छाएं दो लोगों के बीच अटैचमेंट को प्रोत्साहित करने का काम भी करती हैं। 


सेक्स से विकसित होता है इमोशनल कनेक्शन 
IDC हर्ज्लिया के असोसिएट प्रफेसर और सोशल साइकॉलजिस्ट जो इस स्टडी के लीड ऑथर भी थे गुरित बिर्नबॉम कहते हैं, दो अनजान लोगों के बीच इमोशनल कनेक्शन को और गहरा बनाने में सेक्स एक अहम रोल निभाता है और यह बात महिलाओं औऱ पुरुषों दोनों के लिए ही पूरी तरह से सही है। इस स्टडी में पाया गया है कि जब महिलाएं या पुरुष सेक्शुअली उत्तेजित होते हैं तो वे पार्टनर संग इमोशनल लेवल पर भी कनेक्ट होने की कोशिश करते हैं। 

लव और सेक्स के वक्त ब्रेन का सेम पार्ट ऐक्टिव 
महिलाओं और पुरुषों को अलग-अलग ग्रुप्स में रखा गया था जहां एक दूसरे के प्रति उनके व्यवहार की जांच की गई जिसके बाद वैज्ञानिकों ने पाया कि यौन इच्छाएं दो लोगों के बीच इमोशनल बॉन्डिंग को भी विकसित करने का काम करती हैं। अनुसंधानकर्ताओं की मानें तो उन बच्चों का सर्वाइवल चांस बढ़ जाता है जिनके माता-पिता के बीच बॉन्डिंग बेहतर होती है। इससे पहले हुई कई रिसर्च में भी यह बात सामने आ चुकी है कि कोई व्यक्ति रोमांटिक लव का अनुभव करे या फिर सेक्शुअल डिजायर का- इन दोनों ही परिस्थिति में ब्रेन के एक ही क्षेत्र ऐक्टिवेट होता है।