रांची। झारखंड प्रशासनिक सेवा के विभिन्न कोटियों के अंतर्गत 592 पर रिक्त है। इन रिक्तियों को भरने के लिए राज्य सरकार की ओर से आवश्यक पहल की जा रही है।
कार्मिक, प्रशासनिक सुधार तथा राजभाषा विभाग से मिली जानकारी के अनुसार करीब 400 पदों नयी नियुक्ति के लिए अधियाचना झारखंड लोक सेवा आयोग को भेज कर रिक्त पदों को भरने की प्रक्रिया शुरू की जा रही है। विभाग की ओर से सितंबर 2016 में ही षष्टम संयुक्त असैनिक सेवा प्रतियोगिता परीक्षा के लिए उपसमाहर्त्ता के 143 रिक्त पदों पर नियुक्ति के लिए 19 अगस्त 2013 और  5 दिसंबर 2016 द्वारा षष्टम सीमित उप समाहर्त्ता परीक्षा के लिए उपसमाहर्त्ता के 28 पदों पर नियुक्ति के लिए अधियाचना जेपीएससी को भेजी गयी। आयोग से नियुक्ति की अनुशंसा प्राप्त होने पर इन पदाधिकारियों को उप समाहर्त्ता के पद पर नियुक्त करने की कार्रवाई की जाएगी। 
इधर, झारखंड प्रशासनिक सेवा के कूल कोटि से अनुमंडल पदाधिकारी और समकक्ष स्तर तथा अनुमंडल पदाधिकारी एवं समकक्ष स्तर से अपर समाहर्त्ता एवं समकक्ष स्तर में प्रोन्नति की कार्रवाई भी प्रक्रियाधीन है। इससे पहले  सर्वाच्च न्यायालय द्वारा पारित आदेश के आलोक में प्रोन्नति से रोक हटाये जाने के बाद जुलाई 2018 में झारखंड प्रशासनिक सेवा के अपर सचिव स्तर के तीन पदाधिकारियों को विशेष सचिव स्तर में, संयुक्त सचिव एवं समक्ष कोटि के 14 पदाधिकारियों को अवर सचिव एवं समकक्ष कोटि में तथा अपर समाहर्त्ता एवं समकक्ष कोटि के 64 पदाधिकारियों को संयुक्त सचिव एवं समकक्ष कोटि में प्रोन्नति प्रदान की गयी है। इसके पूर्व वर्ष 2016 और 2017 में भी 86 पदाधिकारियों को विभिन्न कोटियों में प्रोन्नति प्रदान की गयी है।