रांची। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आगामी 17 फरवरी को प्रस्तावित हजारीबाग दौरे को लेकर प्रशासनिक तैयारियां जोरों पर है। सुरक्षा मानक के अनुरूप सभी आवश्यक तैयारियां पूरी की जा रही है। शहर के सभी होटल-गेस्ट हाउस में सर्च ऑपरेशन चलाया जा रहा है, वहीं 15 फरवरी की शाम से शहर में मालवाहक बड़े वाहनों का परिचालन बंद हो जाएगा।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का हेलीकॉप्टर 17 फरवरी को हजारीबाग पीटीसी ग्राउंड में लैंड करेगा, जहां से वह सड़क मार्ग से होकर कार्यक्रम स्थल मटवारी स्थित गांधी मैदान पहुंचे। इसे लेकर पूरे क्षेत्र को कड़ी सुरक्षा घेरे के अंदर रखा जाएगा।हजारीबाग अनुमंडल पदाधिकारी मेघा भारद्वाज ने बताया कि 15 फरवरी की संध्या से मालवाहक वाहनों का परिचालन शहर में पूर्णता बंद कर दी जाएगी। इनका आवागमन बायपास से होगा ।वहीं 16 फरवरी की शाम को बसों का परिचालन शहर में बंद कर दी जाएगी। यात्री बसों का परिचालन हजारीबाग क्षितिज हॉस्पिटल सिंघानी से शुरू होगा। उक्त दोनों जगहों तक एक दिन के लिए यात्रियों को छोटे वाहनों से यात्रा करना पड़ेगा।  उन्होंने कहा कि कार्यक्रम में पहुंचने वाले वाहनों के लिए जगह जगह पड़ाव बनाया जा रहा है। कार्यक्रम स्थल से लगभग एक से दो किलोमीटर की दूरी से ही लोगों को पैदल आना होगा। वहीं आम लोगों से अपील की है कि विधि व्यवस्था बनाने में जिला प्रशासन का सहयोग करें। अगर संदिग्ध ब्यक्ति या वस्तु देखें तो तुरंत पुलिस को सूचना दें एवं ज्यादा से ज्यादा लोग दोपहिया वाहनों का ही इस्तेमाल करें। कार्यक्रम में पहुंचने के लिए पर वीवीआइपी एवं वीआईपी के लिए अलग पार्किंग की सुविधा रहेगी। वहीं जिले में आपातकालीन सारी सुविधाएं सुचारू रूप से जारी रहेंगी।
इधर,प्रधानमंत्री के दौरे को लेकर जांच एजेंसियां भी लगातार सक्रिय है। बुधवार देर रात हजारीबाग के विभिन्न होटलों में आतंकवाद निरोधक दस्ता और हजारीबाग पुलिस की टीम ने छापेमारी की।  आतंकवाद निरोधक दस्ता जिला पुलिस बल के संयुक्त अभियान के तहत विभिन्न होटल, लॉज, रेस्त्रां और मुसाफिरखाना में छानबीन की। वहीं रांची एटीएस की चार टीम इन दिनों हजारीबाग में है, जो गुप्त रूप से अपनी कार्रवाई कर रही है, इसी क्रम में एटीएस ने हजारीबाग में देर रात एक दर्जन से अधिक होटलों में छापेमारी कर रुके हुए लोगों की जानकारी ली। साथ ही साथ जिन व्यक्तियों पर संदेह हुआ उन लोगों के फोन कॉल डिटेल्स भी खंगाले गए।