भोपाल ।  भारतीय भू-वैज्ञानिक सर्वेक्षण खान मंत्रालय के सहयोग से मध्यप्रदेश में खनिज संपदा के अपार भंडार की जानकारी मिली है। इन खनिज भण्डार का कुल अनुमानित मूल्य लगभग 5240 करोड़ है। इस से प्रदेश को अतिरिक्त आय प्राप्त होगी।
भारत सरकार के खान मंत्रालय के मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर की अध्यक्षता में नई दिल्ली में विगत सप्ताह हुई केन्द्रीय भू-वैज्ञानिक प्रोग्रामिंग बोर्ड की बैठक में बताया गया कि मध्यप्रदेश के टीकमगढ़ जिले के धौकन ब्लाक में 28.56 मिलियन टन एवं धौरा-उरदौरा ब्लाक में 14.15 मिलियन टन लौह अयस्क के खनिज भंडार मिलने की संभावना है। इसी प्रकार बैतूल जिले के भुआदी क्षेत्र में 2.74 मिलियन टन के जिंक लेगर, बैतूल जिले के ही टीकारी गोढ़ाना एवं चिकलार क्षेत्र में 4.6 मिलियन टन के ग्रेफाइट खनिज भंडार और सिंगरौली जिले के गुडपहाड़ क्षेत्र में 7.20 मिलियन टन की स्वर्णधारित चट्टान, जिसमें से औसतन 1.3 ग्राम प्रति टन स्वर्ण उपलब्ध होना संभावित है, के भण्डार का पता लगाया गया है।
भारत सरकार के खान एवं खनिज (विकास एवं विनियमन) अधिनियम 1957 में निहित प्रावधान के अंतर्गत मध्यप्रदेश शासन के खनिज साधन विभाग द्वारा इन जिलों में उपलब्ध खनिज ब्लाकों की नीलामी की कार्रवाई यथाशीघ्र की जायेगी। इससे राज्य को रायल्टी, एन.एम.ई.टी. तथा डी.एम.एफ. के अलावा प्रतिमाह अतिरिक्त आय प्राप्त होगी।