बेंगलुरू । मेरिलबोन क्रिकेट क्लब (एमसीसी) के अनुसार भले ही आजकल एकदिवसीय और टी20 क्रिकेट का दबदबा है पर अभी भी  86 फीसदी खेल प्रेमी सीमित ओवर की तुलना में टेस्ट क्रिकेट अधिक पसंद करते हैं। एमसीसी के एक सर्वे में यह बात सामने आयी है। इसमें 100 देशों के करीब 13,000 प्रशंसकों ने हिस्सा लिया जिसमें पाया गया कि प्रतिभागियों में से औसतन 86 प्रतिशत लोगों ने कहा कि वे खेल के पांच दिवसीय प्रारूप को देखने को वरीयता देंगे जिसके बाद एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय, टी20 अंतरराष्ट्रीय और घरेलू टी20 का नंबर आता है।
एमसीसी ने कहा, ‘यह शानदार है कि टेस्ट क्रिकेट प्रशंसकों को सबसे ज्यादा पसंदत आता है। एमसीसी टेस्ट क्रिकेट सर्वे अब भी टेस्ट क्रिकेट को शीर्ष क्रिकेट मानता है और यह उनका पसंदीदा प्रारूप है जिसे वे देखना चाहते हैं।’ पिछले साल भी आईसीसी ने एक और सर्वे कराया था जिसमें (19,000 प्रतिभागियों में से) करीब 70 प्रतिशत ने टेस्ट क्रिकेट का समर्थन किया था।
एमसीसी ने एक बयान में कहा, 'बहुत खुशी की बात है कि हमारे द्वारा कराए गए सर्वे में टेस्ट क्रिकेट को ज्यादा पसंदीदा फॉर्मेट बताया गया है। इस सर्वे में 86 फीसदी लोगों ने टेस्ट क्रिकेट को प्राथमिकता देते हुए इसे अभी भी अहम माना है।
इस सर्वे को लेकर श्रीलंका के पूर्व कप्तान और एमसीसी विश्व क्रिकेट समिति के सदस्य कुमार संगाकारा ने कहा, 'मैं इससे पूरी तरह से हैरान हूं। यह असली मौका है और जिम्मेदारी भी कि हम खेल के सबसे लंबे फॉर्मेट का शानदार भविष्य तैयार करें।'
इसके अलावा इंग्‍लैंड के पूर्व कप्‍तान और एमसीसी वर्ल्‍ड क्रिकेट समिति के अध्यक्ष माइक गेटिंग ने भी इस पर खुशी जाहिर की है। 
हालांकि इससे पहले आईसीसी के सीईओ डेविड रिचर्डसन ने साफ कहा था कि टेस्‍ट क्रिकेट मर नहीं रहा है बल्कि हम उसे और बेहतर करने के लिए प्रयासरत हैं।