अलीगढ़।  थाना चंडौस क्षेत्र स्थित गांव जरारा के रिंकू (26) पुत्र भगवान सहाय की नोएडा में मौत हो गई। वह ऑटो चलाता था। शव ऑटो में ही मिला, जिसके साथियों ने हत्या की आशंका जताई है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने पर मौत का कारण स्पष्ट हो सकेगा। घटना की सूचना से गांव में मातम छाया हुआ है। देर शाम परिजन शव लेकर गांव आए और रात को अंतिम संस्कार किया गया। 
दस साल से था नोएडा में 
चार भाई बहनों में तीसरे नंबर का रिंकू करीब 10 साल से नोएडा के मथुरापुर गांव में अकेला रहता था और ऑटो चलाता था। पिता भगवान सहाय की मौत आठ साल पहले हो गई थी। बड़ा भाई नीरज मजदूरी करता था। दोनों भाइयों की शादी नहप हुई। दो बहनों की शादी हो चुकी है। गांव में मां व भाई रहते हैं। दो मार्च को क्षरकू महाशिवरात्रि पर घर आया था और तीन को वापस चला गया। शनिवार की रात करीब 11 बजे ग्रेटर नोएडा के कासना  कोतवाली क्षेत्र के पी थ्री गोलचक्कर के समीप ऑटो में रिंकू का शव मिला। इसकी सूचना राहगीरों ने पुलिस को दी। रविवार सुबह परिजन ग्रेटर नोएडा पहुंच गए, जिनकी मौजूदगी में पोस्टमार्टम कराया गया। 
परिजनों ने जताई हत्या की आशंका 
पुलिस ने पूछताछ में क्षरकू के साथियों पर हत्या की आशंका व्यक्त की है। पुलिस ने बताया कि रिकूं के साथियों से पूछताछ में पता चला है कि वह शराब पीने का आदी था। इससे पहले भी कई बार वह शराब पीकर घर से बाहर ही रह जाता था। पुलिस ने आशंका व्यक्त की है कि अधिक शराब पीना भी मौत का कारण हो सकता है। 
पोस्टमार्टम रिपोर्ट में होगा स्पष्ट 
कासना कोतवाली प्रभारी अजय कुमार ने बताया कि परिजन ने किसी व्यक्ति पर शक जाहिर नहप किया है। पीएम रिपोर्ट आने के बाद पता चल सकेगा कि चालक की मौत कैसे हुई है। 
रिंकू के परिवार की आर्थिक स्थित सही नहप है। पिता भगवान सहाय मजदूरी करते थे।  दोनों बेटियों की शादी र्ग्रामीणों की मदद से हुई। रिंकू रोजगार की तलाश में 10 साल पहले गांव से दिल्ली चला गया था। फिर वह नोएडा में रहने लगा। बड़ा भाई नीरज गांव में ही मजदूरी करता है। दोनों की शादी नहप हुई है। 
र्ग्रामीणों के अनुसार रिंकू ने शुरू में मजदूरी की थी। बाद में नोएडा में अशोक नामक किसी व्यक्ति से ऑटो किराए पर लेकर चलाने लगा।