कौशाम्बी: कौशाम्बी में एक साधु की पीट-पीटकर निर्मम हत्या का सनसनीखेज मामला सामने आया है. जानकारी के मुताबिक, बच्चे की बलि देने के प्रयास का आरोप लगाते हुए हत्या करने का सनसनीखेज मामला सामने आया है. पुलिस ने मामले की जानकारी मिलते ही घायल बच्चे और साधु को जिला अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया, जहां इलाज के दौरान साधु की मौत हो गई. साधु की मौत के बाद पुलिस ने पांच नामजद और 50 अज्ञात लोगों पर गंभीर धाराओं में मुकद्दमा दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है.  

मामला कौशाम्बी थाना क्षेत्र के कोसम इनाम गांव का है, जहां रविवार (10 मार्च) की देर शाम गांव के महाजन का 10 साल का बेटा पिंटू यमुना नदी के पास से खेलते समय अचानक लापता हो गया. ग्रामीण बच्चे रिंकू का आरोप है कि यमुना नदी के किनारे बने एक मंदिर के साधू ने उन्हें मंदिर के पास बुलाया और बैठने को कहा, जिसके बाद वह और उसका भाई मंदिर में ही बैठ गए. 
अचानक साधु ने त्रिशूल से उसके भाई पिंटू के गले में त्रिशूल भोक दिया, जिसके बाद वह डर कर वहां से भाग गया. रिंकू ने पूरी घटना जब अपने परिवार और ग्रामीणों को बताई तो वह गुस्से में मंदिर पहुंचे. मंदिर में पिंटू के गले से खून निकलता देख लोगों की भीड़ साधु को घेरा और उस पर हमला बोल दिया. 
घटना की सूचना के बाद कौशाम्बी थाने की पुलिस मौके पर पहुंची और घायल बच्चे के साथ साधु को भी जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां इलाज के दौरान साधु ने दम तोड़ दिया. साधु की मौत के बाद उसकी शिनाख्त की काफी कोशिश की गई, लेकिन उसकी शिनाख्त नहीं हो सकी.  
एडिशनल एसपी अशोक कुमार ने बताया कि इस संबंध में पांच नामजद और 50 अज्ञात लोगों को केस दर्ज कर लिया है. उन्होंने बताया कि साधु किसी बच्चे को पकड़ने की कोशिश कर रह था. ये अफवाह गांव में फैली और इसी आधार पर उसकी पीट-पीटकर हत्या कर गई.