भोपाल। वाटर स्पोर्ट्स अकादमी की अविवाहित 19 वर्षीय खिलाड़ी ने मंगलवार तड़के जेपी अस्पताल में एक बच्ची को जन्म दिया था। सिर्फ 500 ग्राम वजन की बच्ची को अस्पताल की नवजात शिशु गहन चिकित्सा इकाई में भर्ती कराया गया था। बच्ची ने बुधवार तड़के दम तोड़ दिया। इस घटना के बाद खेल विभाग में हड़कंप मच गया। खिलाड़ी ने पुलिस को इस बात का सहमति पत्र सौंपा है कि बच्ची उसकी और उसके लिवइन पार्टनर की सहमति से हुई है।

गौरतलब है कि टीटी नगर स्टेडियम में सेलिंग अकादमी की एक खिलाड़ी ने सोमवार रात पेट दर्द की शिकायत की थी। वार्डन उसे अस्पताल लेकर पहुंची, तो पता चला कि खिलाड़ी गर्भवती है। सोमवार-मंगलवार की रात करीब 2:30 बजे खिलाड़ी ने सामान्य प्रसव के तहत एक बच्ची को जन्म दिया। लेकिन बच्ची का वजन 500 ग्राम था। लिहाजा उसे नवजात शिशु गहन चिकित्सा इकाई में भर्ती कराया गया। बुधवार तड़के नवजात ने दम तोड़ दिया।
जानकारी के मुताबिक खिलाड़ी कटनी की रहने वाली है और उसके माता-पिता की एक दुर्घटना में मौत हो गई थी। कटनी में उसके नाना-नानी और एक बड़ी बहन रहती है। उसे एक एनजीओ ने अपने पास रखा और पढ़ाया था, इस दौरान उसे कयाकिंग की ट्रेनिंग देने के लिए भोपाल की सेलिंग एकेडमी लाया गया था। यहां भर्ती के दौरान ही उसकी मेडिकल जांच की गई थी। घटना के बाद खेल विभाग के हॉस्टल के संचालकों पर सवाल खड़े होने लगे हैं। 6 महीने तक कैसे उन्हें पता नहीं चला कि वह गर्भवती है।
छुट्टियों में जाती थी कटनी

खेल संचालक एसएल थॉमसन ने बताया कि खिलाड़ी कटनी की रहने वाली थी उनके माता-पिता की दुर्घटना में मौत हो गई थी। एक एनजीओ ने उन्हें पढ़ाया और खेल में आगे बढ़ाया, इसके बाद उन्हें यहां ट्रेनिंग के लिए भर्ती किया गया था। भर्ती के दौरान खिलाड़ी का मेडिकल टेस्ट हुआ था। इस दौरान वो छुट्ट‍ियों में अपने नाना-नानी से मिलने कटनी जाती रहती थी। इसी दौरान कटनी में खिलाड़ी का एक दोस्त से संबंध हुआ था। यह बात उन्होंने पुलिस बयान में बताई है। इस बीच खिलाड़ी ने गर्भवती होने की बात छिपाए रखी और प्रैक्टिस करती रही। खेल संचालक ने बताया कि हम खिलाड़ी की काउंसलिंग करवाएंगे। वो अब अपने नाना-नानी के साथ रहना चाहती है।