जयपुर। राजस्थान की 25 लोकसभा सीटों में से 15 पर कांग्रेस ने उम्मीदवारों के नामों का पैनल तैयार कर लिया है। स्क्रीनिग कमेटी इस पैनल पर मुहर लगा चुकी है। अब सिर्फ केंद्रीय चुनाव समिति की मंजूरी बाकी है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट के बीच चल रही खींचतान के चलते 10 सीटों पर प्रत्याशियों को लेकर सहमति नहीं बन सकी है। अगले सप्ताह एक बार फिर स्क्रीनिग कमेटी की बैठक होगी, जिसमें 10 सीटों पर संभावित प्रत्याशियों को लेकर चर्चा होगी । कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी व पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव अविनाश पांडे गहलोत और पायलट के बीच सहमति बनाने में जुटे हैं।

पैनल में इनका है नाम
कांग्रेस के एक राष्ट्रीय पदाधिकारी से मिली जानकारी के अनुसार अलवर लोकसभा सीट से भंवर जितेंद्र सिह, उदयपुर सीट से रघुवीर मीणा, डूंगरपुर-बांसवाड़ा से ताराचंद भगोरा, झालावाड़-बांरा से उर्मिंला जैन, बाड़मेर से मानवेंद्र सिह, सीकर से सुभाष महरिया, झुंझुनूं से राजबाला ओला, जालौर-सिरोही से वैभव गहलोत, टोंक-सवाई माधोपुर से नमोनारायण मीणा, नागौर से ज्योति मिर्धा, श्रीगंगानगर से भरत मेघवाल, भरतपुर से रतन सिह, राजसमंद से लक्ष्मण सिह रावत और पाली से बद्री जाखड़ के नाम तय कर लिए गए हैं।

इसके साथ ही चित्तौड़गढ़ सीट पर पूर्व केंद्रीय मंत्री डॉ.गिरिजा व्यास एवं गोपाल सिह ईडवा के नाम सूची में शामिल किए गए हैं। गहलोत और पायलट दोनों में से किसी एक को टिकट दिए जाने पर सहमत हैं। इस बारे में अंतिम फैसला पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी करेंगे ।
इन सीटों पर नहीं बनी सहमति

जयपुर शहर, जयपुर ग्रामीण, दौसा, कोटा, अजमेर, बीकानेर, चूरू, जोधपुर, भीलवाड़ा एवं धौलपुर-करौली सीट पर एकल नाम को लेकर सहमति नहीं बन पाई है। दरअसल, अशोक गहलोत और सचिन पायलट दोनों ही अपनी-अपनी पसंद के नेताओं को टिकट दिलाना चाहते हैं।