भोपाल ।  प्रदेश कांग्रेस के मीडिया उपाध्यक्ष भूपेन्द्र गुप्ता ने कहा है कि भाजपा के नेता इतिहास को तोड़ मरोड़ जनता को गुमराह करने में माहिर हैं। उन्होंने कहा कि संयुक्त राष्ट्र का गठन 1945 में ही हो गया था, जब न तो भारत आजाद था, न ही नेहरू प्रधानमंत्री थे। नेहरू जी के समय अजहर मसूद जैसे आतंकी लोग पैदा भी नहीं हुए थे। अरुण जेटली एक गैर जिम्मेदार मंत्री हैं जो यह कह रहे हैं कि पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू मूलरूप से दोषी हैं, जिन्होंने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की स्थायी सदस्यता के लिये भारत की बजाय चीन का पक्ष लिया था। हर बार उनका झूठ पकड़ा जाता है। उन्हें मालूम होना चाहिए कि सिक्योरिटी काउंसिल में स्थाई सदस्य बनने की प्रक्रिया तय है। अपनी नाकामियों को छुपाने के लिए इतिहास को तोड़ने की बाजीगरी अब जनता जान चुकी है।
गुप्ता ने कहा कि अरुण जेटली बताएं कि उन्होंने मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को पूरे होशो हवास में पांच दिन के लिए चीन क्यों भेजा था? शिवराज सिंह चौहान ने तब चीन की अर्थव्यवस्था और सभ्यता के तारीफों के पुल बांध दिए थे। यहां तक कहा था कि चीनी कंपनियों के लिए पीथमपुर में नया औद्योगिक चीनी टाउनशिप बनाएंगे और वे कई चीनी कंपनियों से समझौता करके भी आए।
भूपेन्द्र गुप्ता ने कहा कि जब शिवराज सिंह को सब पता था तो अरुण जेटली के कहने पर चीन क्यों गए थे? स्वदेशी का दंभ भरते भरते भाजपा ने शिवराज सिंह चौहान को चीनी कंपनियों को बुलाने क्यों भेजा था? शिवराज सिंह चौहान ने यह भी कहा था कि चीनी कंपनियों के लिए मध्य प्रदेश सबसे अच्छा प्रदेश है। वे बताएं कि देशी कंपनियों के रहते चीनी कंपनियों को बुलाने किस मुंह से गये थे? अपने प्रदेश के युवा उद्यमियों की प्रतिभा को अनदेखा कर चीन की कंपनियों को साथ देने शान से पांच दिन चीन का दौरा क्यों किया था? चीन की कंपनियों से क्यों कहा था कि उन्हें प्रदेश में आने पर किसी तरह की तकलीफ नहीं होगी?