रायपुर। देश में दिनोदिन महंगी होती स्वास्थ्य सुविधाओं को तरसते आम मरीजों के लिए राहत की खबर आई है। एम्स में कैंसर के मरीजों के लिए सस्ती दर में रेडियो थैरेपी शुरू की जा रही है। थैरेपी की शुरुआती दर 750 रुपए है, जो निजी संस्थानों से 50 फीसद से भी कम है। कैंसर के मरीजों के लिए यह सुविधा किसी सौगात से कम नहीं।

शुक्रवार को एम्स परिसर में संस्था के प्रेसीटेंड प्रो. डॉ. जार्ज ए. डिसूजा ने रेडियो थैरिपी विभाग का शुभारंभ किया। मौके पर आइआइएम के डायरेक्टर भरत भास्कर, आयुष विवि के कुलपति डॉ. एके चंद्राकर और एम्स के निदेशक डॉ. नितिन एम नागरकर मौजूद रहे।

मौके पर मौजूद रेडियो थैरेपी के विभागाध्यक्ष डॉ. सिद्घार्थ नंदा ने बताया कि प्रदेश में डबल एनर्जी लिनेक रेडियो थैरेपी इकाई वाला पहला उपकरण है। इससे सिर, गला, स्तन, ऑथ रोग और ब्रेन ट्यूमर, मूत्ररोग जैसे कैंसर की थैरेपी के लिए उपयोगी होगा।

इनका भी होता है सस्ते में इलाज

एक यूनिट ब्लड के लिए अब 75 रुपए देने होंगे..

जो पहले 1100 रुपए था।

हेड सिटी स्कैन कॉन्ट्रास्ट के साथ- 600 रुपए

एंजियोग्राफी- 500 रुपये

एमआरआई अब 2500 रुपये हुआ, पहले इसके लिए तीन से पांच हजार रुपये देने पड़ते थे।

सभी ऑर्गन स्कैन स्पाइन और एबडॉमिनल- 1100 रुपये

ईको कॉर्डियो- 200 रु,

जबकि पहले 1100 रुपये में होता था।

सोनोग्राफी 160 से 100 रुपये में

नॉर्मल डिलीवरी 500 रुपये सीजेरियन डिलीवरी- दवाई के साथ 1000 रुपये

हर्निया ऑपरेशन 300 रु, पहले 2500 रुपये लगते थे।

ब्लड टेस्ट के तहत लिपिड प्रोफाइल वगैरह की जांच रेट में 80 फीसदी की कमी की गई है।

80 फीसदी दरों में कमी जनरल वार्ड में भर्ती मरीजों के लिए है, अगर कोई मरीज पेइंग वार्ड में भर्ती होगा तो उसके लिए भी दिल्ली एम्स जैसी दरें ही लागू होंगी।