रायपुर। छत्तीसगढ़ की 11 लोकसभा सीटों में से पांच के लिए कांग्रेस ने शनिवार आधी रात को प्रत्याशियों की घोषणा कर दी, जबकि भाजपा में केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक में छत्तीसगढ़ को लेकर चर्चा तक नहीं हुई। कांग्रेस ने जिन सीटों से प्रत्याशी घोषित किए गए हैं, उसमें सरगुजा लोकसभा से खेलसाय सिंह, रायगढ़ से लालजीत सिंह राठिया, बस्तर से दीपक बैज, कांकेर से बीरेश ठाकुर और जांजगीर से रवि भारद्वाज शामिल हैं। इसमें से तीन विधायक हैं, खेलसाय सिंह प्रेमनगर, लालजीत सिंह राठिया धर्मजयगढ़ और दीपक बैज चित्रकोट के विधायक हैं। ठाकुर भानुप्रतापपुर के पूर्व जनपद अध्यक्ष हैं, जबकि भारद्वाज पूर्व सांसद परसराम भारद्वाज के पुत्र हैं।

पांचों प्रत्याशी पहली बार लोकसभा चुनाव के मैदान में उतरें हैं। शनिवार शाम को कांग्रेस और भाजपा दोनों राजनीतिक दलों की केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक हुई। कांग्रेस में बैठक की अध्यक्षता पार्टी के राष्ट्रीय प्रभारी महासचिव केसी वेणुगोपाल ने की। बैठक में छत्तीसगढ़ प्रभारी पीएल पुनिया, पीसीसी अध्यक्ष भूपेश बघेल, प्रदेश प्रभारी सचिव डॉ. चंदन यादव व अरुण उरांव उपस्थित थे। पुनिया और बघेल का कहना है कि सभी 11 सीटों के लिए सिंगल नाम तय कर लिए गए हैं, लेकिन जब एक-एक नामों की सूची केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक के बाद वेणुगोपाल ने राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी के सामने रखी, तो उन्होंने पांच नामों पर ही मुहर लगाई। छह सीटों के प्रत्याशियों के नाम रोक लिए।
सरगुजा लोकसभा के प्रत्याशी मंत्री टीएस सिंहदेव की पसंद पर फाइनल किए गए। इसका कारण यह है कि सरगुजा की जिम्मेदारी सिंहदेव को ही दी गई है। रायगढ़ में मंत्री उमेश पटेल की पसंद का ध्यान रखा गया। बस्तर के प्रत्याशी चयन में पीसीसी अध्यक्ष बघेल की चली। वहीं, जांजगीर लोकसभा सीट के लिए सभी की राय लेने के बाद निर्णय लिया गया। कांकेर के ठाकुर को प्रत्याशी बनाने का कारण यह है कि वे वनाधिकार पट्टा और आदिवासियों के हक की लड़ाई लड़ते रहे हैं।

खेलसाय सिंह : प्रत्याशी-सरगुजा

1991 और 1999 में सांसद बने, 2004 में लोकसभा चुनाव हारे, 2013 और 2018 में प्रेमनगर से विधायक चुने गए।

लालजीत सिंह राठिया : प्रत्याशी-रायगढ़
2013 में धर्मजयगढ़ से विधायक बने, वर्तमान में इसी सीट से विधायक हैं। मध्यक्षेत्र विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष हैं।

रवि भारद्वाज : प्रत्याशी-जांजगीर
सारंगढ़ के पूर्व सांसद परसराम भारद्वाज के पुत्र व सतनामी समाज के नेता। विधानसभा चुनाव के लिए भी दावेदारी की थी।

दीपक बैज : प्रत्याशी-बस्तर
प्रदेश कांग्रेस का युवा चेहरा हैं। वर्ष 2013 में विधानसभा चुनाव में पहली बार चित्रकोट विधानसभा से विधायक चुने गए थे।

बीरेश ठाकुर : प्रत्याशी-कांकेर

भानुप्रतापपुर के पूर्व जनपद अध्यक्ष हैं। पिछले तीन विधानसभा चुनाव से कांकेर सीट से दावेदारी पेश कर रहे थे।

भाजपा में आज फिर मंथन होगा

भाजपा की केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक में शामिल होने के लिए छत्तीसगढ़ से प्रदेश अध्यक्ष व सांसद विक्रम मंडावी, भाजपा विधायक दल के नेता धरमलाल कौशिक, प्रदेश प्रभारी डॉ. अनिल जैन, राष्ट्रीय सह संगठन मंत्री सौदान सिंह दिल्ली पहुंचे थे, लेकिन छत्तीसगढ़ का नम्बर ही नहीं लगा। रविवार को संगठन के राष्ट्रीय संगठन महामंत्री रामलाल के साथ उसेंडी, कौशिक, जैन व सिंह की बैठक होगी। पार्टी के सूत्रों के अनुसार 18 मार्च को केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक होने वाली है, जिसमें छत्तीसगढ़ के प्रत्याशी तय होंगे।