भोपाल। मध्यप्रदेश के सागर जिले के बंडा थाना क्षेत्र में बीते दिनों गला रेत कर हुई 12 वर्षीय लड़की की हत्या के मामले में पुलिस ने इस सनसनीखेज हत्याकांड का खुलासा कर दिया है। बताया गया है कि हत्या से पहले नाबालिग के तीन भाइयों व चाचा ने उसके साथ गैंग रेप किया था। बाद मे उसकी हत्या इसलिए कर दी की लड़की ने दुष्कर्म की शिकायत पुलिस से करने की बात कही थी। इस पर आरोपियो सहित नाबालिग की चाची ने पहले उसका गला दबाकर मारने का प्रयास किया और बाद में हंसिए से उसका सिर धड़ से अलग कर दिया। पुलिस ने चारो आरोपियो को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है, जबकि एक अन्य आरोपी फरार है। घटना का खुलासा करते हुए आला अधिकारियो ने बताया कि सनसनीखेज मामले के बाद पुलिस ने आरोपियो की गिरफ्तारी को लेकर 25 हजार रुपए का इनाम भी घोषित किया था। इस दोरान परिवार के सदस्य के बार-बार अपने ब्यानो को बदलने पर पुलिस को संदेह हुआ जिसके बाद पुलिस ने नाबालिग के दो भाइयों, चाचा व चाची से पूछताछ की। शुरुआत में तो सभी आरोपी पुलिस को गुमराह करते हुए जमीन का विवाद बताकर गांव के अन्य व्यक्ति पर आरोप लगाते रहे, लेकिन जब पुलिस ने जांच के दोरान सामने आई जानकारी के आधार पर अपने अंदाज मे उनसे पूछताछ की तो पूरी सच्चाई सामने आ गई। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि नाबालिग के पिता ने 13 मार्च को बंडा में शिकायत दर्ज कराते हुए कहा था, कि नाबालिग सुबह भडराना गांव के मिडिल स्कूल में परीक्षा देने घर से निकली थी। शाम तक घर नहीं लौटी। इस पर पुलिस ने गुमशुदगी का मामला दर्ज किया। हत्या की जानकारी नाबालिग के पिता को तब लगी, जब 14 मार्च की शाम गांव के लोग खेतों से फसल काटकर घर लौट रहे थे, उन्हें रास्ते में लड़की का सिर कटा मिला, धड़ रास्ते में खेत किनारे पड़ा मिला था। वहीं शुरुआती जांच में पुलिस ने नाबालिग के चाचा से पूछताछ की गई तो उसने बताया गया कि गांव के एक व्यक्ति से मेरे भाई का जमीन विवाद चल रहा था। मामला बंडा एसडीएम कोर्ट में चल रहा है। वहीं नाबालिग की हत्या मामले में उसके दो भाइयों द्वारा अलग-अलग बयान दिए गए। एक अन्य भाई घटना के दिन से घर पर नहीं है। साथ ही उसके बारे मे परिजन कुछ भी बोलने से कतराते रहे। इन्ही संदेह के आधार पर पुलिस ने आरोपियो से सख्ती से पूछताछ की जिसमे सनसनीखेज हत्याकांड का खूलासा हो गया।