कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव और पूर्वी उत्तर प्रदेश की प्रभारी बनाए जाने के बाद तीन दिवसीय पूर्वांचल दौरे पर पहुंचीं प्रियंका गांधी ने बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर बड़ा हमला बोला. चुनार से गंगा के रास्ते बनारस के लिए रवाना होने से पहले मीडिया से बातचीत करते हुए प्रियंका गांधी ने कहा कि प्रधानमंत्री डरा रहे हैं. वे जितना प्रताड़ित करेंगे हम उतनी मजबूती से उनका सामना करेंगे.

अपने दौरे के आखिरी दिन पीएम मोदी के ब्लॉग पर जवाब देते हुए प्रियंका गांधी ने कहा, 'जो सत्ता में होते हैं उन्हें दो गलतफहमी होती है. पहली ये कि वो आसानी से लोगों को गुमराह कर सकते हैं, दूसरी ये कि उन्हें लगता है जो उनके खिलाफ बोलते हैं वो उनसे डरते हैं. हम उनसे डरते नहीं. वे जितना ज्यादा प्रताड़ित करेंगे, हम उतनी हिम्मत से उनका सामना करेंगे. वे जितना ज्यादा डराएंगे हम उतनी जोर से उनसे लड़ेंगे.'

दरअसल प्रधानमंत्री ने बिना किसी का नाम लिए अपने ट्विटर हैंडल से वंशवाद की राजनीति पर निशाना साधा है. उन्होंने लिखा, 'वंशवाद की राजनीति से सबसे अधिक नुकसान संस्थाओं को हुआ है. प्रेस से लेकर पार्लियामेंट तक. सोल्जर्स से लेकर फ्री स्पीच तक. कॉन्स्टिट्यूशन से लेकर कोर्ट तक. कुछ भी नहीं छोड़ा. कुछ विचार साझा कर रहा हूं...'
हालांकि प्रियंका के हमले पर बीजेपी प्रदेश महामंत्री और एमएलसी विजय बहादुर पाठक ने जवाब देते हुए कहा कि उन्हें डरा कौन रहा है. कांग्रेस पार्टी में देख लीजिये अध्यक्ष से लेकर राष्ट्रीय महासचिव तक कौन बैठा है. बीजेपी में एक बूथ कार्यकर्ता भी अध्यक्ष बन सकता है. लेकिन क्या कांग्रेस में ऐसा संभव है."