कांग्रेस में टिकट वितरण का काउंट डाउन चालू है और इस महीने के आखिर तक टिकट घोषित होने की संभावना है. इस बीच पार्टी में टिकटों को लेकर दावेदारों के बीच जमकर जोर आजमाइश का दौर चल रहा है. कांग्रेस की टिकट के प्रबल दावेदारों में राजनीतिक परिवारों से आने वाले नेताओं का ही ज्यादा बोलबाला है.
कांग्रेस में 25 में से आधी सीटों के टिकटों के प्रबल दावेदार राजनीतिक घरानों या राजनीतिक परिवारों से ताल्लुकात रखते हैं. कई दावेदार तो पुराने खानदानी राजनीतिक घरानों के हैं तो कई नए बने राजनीतिक घरानों से हैं. राजनीतिक परिवारों से संबंध रखने वाले इन दावेदारों के आगे नए चेहरों को जोर आजमाइश करनी पड़ रही है.
विरोधी खेमे दिल्ली में जता चुके हैं विरोध
मारवाड़ और शेखावाटी से लेकर हाड़ौती तक की सीटों पर राजनीतिक परिवारों का ही बोलबाला है. टिकट की दावेदारी में राजनीतिक परिवारों के हावी रहने का कांग्रेस के कई दावेदार दिल्ली में विरोध जता चुके हैं. चूरू और नागौर सीट पर राजनीतिक परिवारों के दावेदारों के खिलाफ विरोधी खेमों ने दिल्ली पहुंचकर विरोध जताया है.
कांग्रेस की टिकटों के लिए राजनीतिक परिवारों से दावेदार
- बाड़मेर सीट से पूर्व केंद्रीय मंत्री जसवंत सिंह के पुत्र मानवेंद्र सिंह.
- अलवर से भंवर जितेंद्र सिंह.
- झुंझुनू से राजबाला ओला. कांग्रेस के दिग्गज नेता रहे दिवंगत शीशराम ओला की पुत्रवधु एवं विधायक बृजेंद्र सिंह ओला की पत्नी.
- सीकर से सुभाष महरिया. ये दिवंगत कांग्रेस नेता रामदेव सिंह महरिया के परिवार से आते हैं.
- नागौर से दिवंगत नेता नाथूराम मिर्धा की पौत्री ज्योति मिर्धा, सरकारी उपमुख्य सचेतक महेंद्र चौधरी की पत्नी जिला प्रमुख सुनीता चौधरी.
- चूरू से हाजी मकबूल मंडेलिया के पौत्र इरशाद मंडेलिया.
- जयपुर शहर से दिवंगत कांग्रेस नेता सुरेश शर्मा के भाई सुनील शर्मा और कांग्रेस विधायक राजकुमार शर्मा के भाई राजपाल शर्मा.
- बीकानेर से कांग्रेस नेता गोविंद मेघवाल की पुत्री सरिता मेघवाल और मंत्री मास्टर भंवरलाल की पुत्री बनारसी मेघवाल.
- टोंक-सवाईमाधोपुर से पूर्व मंत्री और कांग्रेस विधायक हरीश मीणा के भाई नमोनारायण मीणा.
- झालावाड़-बारां से मंत्री प्रमोद जैन भाया की पत्नी उर्मिला जैन भाया.
- जालोर-सिरोही व जोधपुर से सीएम अशोक गहलोत के पुत्र वैभव गहलोत.