स्मार्टफोन की बैटरी के चार्ज होने के लिए अब घंटों इंतजार नहीं करना पड़ेगा। क्योंकि वैज्ञानिकों ने एक ऐसी बैटरी का विकास कर लिया है, जो मात्र दो मिनट में 70 फीसदी तक चार्ज हो सकेगी। सनस्क्रीन में पाए जाने वाले आम अवयवों का इस्तेमाल कर सिंगापुर की नान्यांग टेक्नोलॉजिकल यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने एक स्मार्ट बैटरी का विकास किया है। चार्जिग की प्रक्रिया को तेज करने के लिए जेल आधारित सामग्री का इस्तेमाल किया गया है।

शोधकर्ताओं ने बैटरी के एनोड के रूप में ग्रेफाइट की जगह टाइटेनियम ऑक्साइड से बने एक जेल का इस्तेमाल किया है। हफिंगटन पोस्ट की रपट के मुताबिक, टाइटेनियम ऑक्साइड से बना यह एनोड बैटरी में रासायनिक प्रतिक्रिया को तेज करता है। यह बैटरी 10 हजार बार तक चार्ज हो सकती है और यह 20 सालों तक इस्तेमाल में लाई जा सकती है। यह बैटरी अगले दो सालों में बाजार में बिक्री के लिए उपलब्ध हो सकती है।