* नवरात्रि से रामनवमी तक करें इन 5 दुर्लभ मंत्रों का जाप, बदल देंगे आपकी किस्मत
हम पाठकों की सुविधा, समयाभाव एवं कालगत दोषों को दृष्टिगत रखकर नवरात्रि में स्मरण जप के लिए कुछ सरल प्रयोग-मंत्र दे रहे हैं। 

नवरात्रि से राम नवमी तक विश्वास एवं निष्ठा के साथ इन्हीं मंत्रों से पूजा-प्रार्थना करने से माता भगवती न केवल प्रसन्न होती है, वरन् उसकी दुर्लभ मनोकामना भी पूरी करती है। पढ़ें मंत्र...

श्रीरामचरित मानस के दुर्लभ मंत्र

1. देविपूजि पद कमल तुम्हारे
सुरनर मुनि सब होहि सुखारे।

2. मोर मनोरथ मानहुं नीके
बसहु सदा उरपुर सबही के।

3. जय गजबदन षडानन माता
जगत जननि दामिनी ढु‍ति गाता।

4. अजा, अनादि शक्ति अविनाशिनी सदा शंभु अरघंग निवासिनी
जगसंभव पालन कारिनी निज इच्छा लीला वपु धारिणी।

5. उद्भव स्थितिसंहार कारिणिम क्लेश
हारिणिम सर्वश्रे यस्करीसीतां, न तोऽहंरामवल्ले भाम।

जो मनुष्य उपरोक्त मंत्रों का जाप नवरात्रि से श्रीराम नवमी तक करता है, उनकी सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती है।