जयपुर, राजस्थान के भरतपुर जिले के एक प्रगतिशील किसान ने बेशकीमती फसल केसर उगाकर लोगों के लिए मिसाल बना दी है. ये कारनामा जिले की तहसील के कासौट गांव के किसान सुरेंद्र सिंह ने किया है, जहां उसके खेतों में आलू की फसल के साथ केसर की क्यारी भी पूरी तरह से गुलजार हैं. सुरेंद्र सिंह ने घर वालों व गांव वालों के भारी विरोध के बाद केसर की खेती करने का निर्णय लिया और आज हालात यह हैं कि उसके खेत केसर की सुगंध से महक रहे हैं और केसर की फसल को देखने के लिए दूर-दूर से लोग उसके खेतों पर पहुंच रहे हैं.

किसान सुरेंद्र सिंह का कहना कि उसने केसर की खेती का तरीका यूट्यूब पर समझा और बीज मंगाने के लिए उसके पास पैसे नहीं थे, लेकिन उसके बड़े भाई ने सहयोग किया और बीज मंगवाने के बाद आलू की फसल के साथ केसर की फसल भी तैयार कर डाली.

किसान सुरेंद्र सिंह ने बताया कि शुरुआत में उसके घरवाले, गांव के लोग और दोस्त उसका मजाक उड़ाया करते थे लेकिन जब उसके खेतों में केसर की क्यारी महकने लगी तो वह लोग भी अब बजाय मजाक उड़ाने की उस की तारीफों के पुल बांधने लगे हैं. किसान सुरेंद्र सिंह ने बताया कि केसर की फसल तैयार करने के काम में किसी ने उसका सहयोग नहीं किया सिर्फ उसकी पत्नी मुनेश ने जरूर उसकी हौसला अफजाई किया. बता दें कि आज वह अपने खेतों में लगभग 1 किलो से अधिक केसर पैदा कर चुका है.

सुरेंद्र का कहना है कि अगर किसान को सरकार प्रोत्साहित करें तो केसर ही नहीं वह कोई भी फसल अपने खेतों में तैयार कर सकता है. सुरेंद्र ने बताया कि उसने अभी अपने खेतों के थोड़े से हिस्से में केसर की फसल तैयार की है और अब जब सफलता मिल गई है तो अगले सीजन में वह पूरे खेत में केसर की फसल ही पैदा करेगा.