लोकसभा चुनाव 2019 के लिए राजस्थान में नए मतदाता ‘किंगमेकर’ की भूमिका में है. ये वोटर्स जिस तरफ भी जाएंगे,  उस पार्टी के प्रत्याशी की जीत लगभग तय है. ऐसे में यदि पूरी ताकत से इन नए वोटरों को साधा जाए तो 25 में से 12 सीटों पर सियासी समीकरण बदल सकते हैं. पूरे राज्य में इस बार 55 लाख 83 हजार 375 नए वोटर्स जुड़े हैं. इनमें 18 से 19 साल की उम्र के 12 लाख से ज्यादा मतदाता पहली बार वोटिंग करेंगे.

प्रदेश की बांसवाड़ा, नागौर ,बाड़मेर ,करौली, धौलपुर, दौसा, अजमेर, टोंक-सवाई माधोपुर, श्री गंगानगर, कोटा, भीलवाड़ा ,झुंझुनू और भरतपुर सीट में नए वोटर सबसे ज्यादा बढ़े हुए है. इनमें से हर सीट पर करीब ढाई लाख वोट बढ़े हैं. यही नहीं, इन सीटों पर बीजेपी-कांग्रेस दोनों ही हॉट सीट मानकर काम कर रही हैं. लोकसभा सीटों पर नए पुरुष वोटरों के मुकाबले नई महिला वोटर्स की संख्या ज्यादा बढ़ी है.

लोकसभा चुनाव 2019 में इस बार प्रदेश में 12 लाख 71 हजार 241 नए वोटर्स और 8 लाख 34 हजार 952 युवा वोटर्स प्रदेश की तकदीर बदलने में निर्णायक भूमिका में रहेंगे. लोकसभा चुनाव में लोकतांत्रिक प्रणाली के यज्ञ में अपनी आहूति देने के लिए नए यानी 18 से 19 वर्ष के वोटर्स वहीं युवा यानी 20 से 25 वर्ष की आयु वाले वोटर्स आतुर हैं.

जानते हैं लोकसभा क्षेत्र वार इस भागीदारी को-

श्रीगंगानगर

श्रीगंगानगर में 18 से 19 साल के 43136 नए वोटर्स तो 20 से 25 साल के वर्ग में 3 लाख 6369 अपने मताधिकार का इस्तेमाल करेंगे.

बीकानेर

बीकानेर में 42865 नए वोटर्स हैं तो वहीं 20 से 25 साल के 310796 मतदाता हैं.

चूरू

चूरू में 57848 नए वोटर्स हैं तो वहीं 20 से 25 साल की उम्र वाले 350175 वोटर्स हैं.

झुंझुनू

झुंझुनू में 50935 नए वोटर हैं तो वहीं 20 से 25 साल के मतदाताओं की संख्या 309605 है.

सीकर

सीकर में 55472 पहली बार वोटिंग करेंगे हैं तो वहीं 20 से 25 साल की उम्र वाले वोटर्स 327725 हैं.

 जयपुर ग्रामीण

जयपुर ग्रामीण में 49369 नए वोटर्स हैं तो वहीं 20 से 25 साल की उम्र वाले 322940 मतदाता हैं.

जयपुर शहर

जयपुर शहर में 44604 नए वोटर हैं तो वहीं 20 से 25 साल की उम्र के 272140 मतदाता हैं.

अलवर

अलवर में नए वोटर्स की संख्या 47362 हैं तो वहीं 20 से 25 साल की उम्र वाले यहां 320470 हैं.

भरतपुर

भरतपुर की एससी सीट पर 55970 वोटर्स पहली बार वोट देंगे तो वहीं 20 से 25 साल के 368307 वोटर्स हैं.

करौली-धौलपुर

करौली-धौलपुर में नए वोटर्स की संख्या 52403 हैं तो वहीं 20 से 25 साल की उम्र वाले 365377 हैं.

दौसा

दौसा की एसटी सीट पर 44969 नए वोटर्स हैं तो वहीं 20 से 25 साल की उम्र वालों की संख्या 316063 हैं

टोंक-सवाई माधोपुर

टोंक-सवाई माधोपुर में 50323 पहली बार वोटिंग करेंगे तो वहीं 20 से 25 साल की उम्र वाले वोटर्स 309733 हैं.

अजमेर

अजमेर में नए वोटर्स की संख्या 43735 हैं तो 20 से 25 साल की उम्र वाले 283531 वोटर्स हैं.

नागौर

नागौर में नए वोटर्स की संख्या 51635 हैं तो 20 से 25 साल की उम्र वाले वोटर्स 315498 हैं.

 पाली

पाली में नए वोटर्स की संख्या 51589 हैं तो 20 से 25 साल की उम्र वाले 319111 मतदाता है.

जोधपुर

जोधपुर में नए वोटर्स की संख्या 45157 हैं तो 20 से 25 साल की उम्र वाले 302830 वोटर्स हैं.

बाड़मेर

बाड़मेर में नए वोटर्स 57600 हैं तो 20 से 25 वर्ष वाले 361569 वोटर्स हैं.

जालोर

जालोर में नए वोटर्स की संख्या 45312 हैं तो 20 से 25 साल की उम्र वाले 327667 मतदाता हैं.

उदयपुर

उदयपुर में नए वोटर्स की संख्या 52389 हैं तो 20 से 25 साल वाले वोटर्स यहां 321577 हैं.

बांसवाड़ा

बांसवाड़ा की एसटी सीट पर 53326 नए वोटर हैं तो 20 से 25 साल की आयु वर्ग में 341176 मतदाता हैं.

चित्तौड़गढ़

चित्तौड़गढ़ में 46489 नए मतदाता हैं तो 20 से 25 साल की उम्र वाले 304078 मतदाता हैं.

राजसमंद

राजसमंद में 49948 नए मतदाता हैं तो 20 से 25 साल की आयु वर्ग में 292610 वोटर्स हैं.

भीलवाड़ा

भीलवाड़ा में सबसे ज्यादा 62004 नए मतदाता हैं तो 20 से 25 साल की उम्र में 327945 वोटर्स हैं.

कोटा

कोटा में नए वोटर्स की संख्या 56836 हैं तो 20 से 25 साल की उम्र वाले 317702 वोटर्स हैं.

झालावाड़-बारां

इसी तरह झालावाड़ बारां में 57965 नए वोटर्स हैं तो 20 से 25 साल वाले वोटर्स 339958 है.

अतिरिक्त मुख्य निर्वाचन का कहना है कि भारत निर्वाचन आयोग द्वारा संचालित स्वीप अभियान का व्यापक प्रचार-प्रसार करने के फलस्वरूप प्रदेश में नए वोटर्स बढ़े हैं। स्कूल कॉलेजों और शिक्षण संस्थाओं में शिविर लगाकर नई वोटर्स के नाम जोड़े गए और स्वीप कार्यक्रम को गांव- गांव और ढाणी तक पहुंचाया गया. उन्होंने कहा की राज्य में मतदाताओं को जागरूक किया जा रहा है.