यदि कोई आपको ओएलएक्स पर फौजी बताकर सस्ता सामान बेचने का झांसा देता है तो उसके खिलाफ तुरंत पुलिस को शिकायत करें। पिछले कुछ माह में ऐसे कई मामले आ चुके हैं, जिसमें तबादले के नाम पर सामान बेचने का झांसा दिया और रुपये ठग लिए गए। पुलिस ने ऐसे गिरोह पर शिकंजा कसने के लिए एसआइटी का गठन किया है।

दरअसल, कुछ माह में ऐसे केस आए हैं जिसमें ओएलएक्स पर कभी बाइक तो कभी अन्य सामान का फोटो अपलोड कर उसे बेचने का झांसा दिया गया है। जब कोई व्यक्ति उसके साथ दिए गए नंबर पर फोन करता है तो फोन रिसीव करने वाला खुद को फौजी बताता है। साथ ही झांसा दिया जाता है कि उसका तबादला हो गया है। इस वजह से सस्ता सामान बेच रहा है। झांसे में आकर सामान देने से पहले ही पीडि़त व्यक्ति उसके खाते में रुपये भेज देता है, जिसके बाद खुद को फौजी बताने वाले का ना नंबर मिलता है और ना ही उसकी कोई जानकारी मिलती है।

बाइक पसंद करवाकर लगा दी 50 हजार रुपये की चपत

ताजा मामला हिसार के आर्यनगर गांव का है। जहां के निवासी मेडिकल स्टोर संचालक आबिद को साइबर क्रिमिनल ने ओएलएक्स पर बाइक पसंद कराकर 50 हजार रुपये की चपत लगा दी। आजाद नगर थाना पुलिस ने शिकायत के आधार पर दो नामजद के खिलाफ धोखाधड़ी और आपराधिक षडयंत्र रचने का केस दर्ज किया है।