मुंबई. महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने मुंबई में कहा कि राफेल खरीदने के प्रस्ताव को लेकर राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष शरद पवार का भाजपा के पूर्व रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर के खिलाफ बयान अनुचित है । राकांपा प्रमुख ऐसे ईमानदार मंत्री के खिलाफ बयानबाजी कर रहे हैं, जो आज दुनिया में ही नहीं है। 


मुख्यमंत्री फडणवीस ने नाराजगी जताते हुए कहा कि राफेल मसले पर शरद पवार की राजनीतिक बयानबाजी और आरोप शोभा नहीं देते । शरद पवार एक वरिष्ठ नेता हैं। उन्हें इस तरह की बयानबाजी करने की जरूरत नहीं थी। मनोहर पर्रिकर जिंदा होते तो, वह अपना पक्ष भलीभांति रख सकते थे। लेकिन उनके निधन के बाद इस तरह की छींटाकशी नहीं की जानी चाहिए।  

यह कहा था शरद पवार ने

शरद पवार ने शनिवार को एक चुनावी भाषण के दौरान दावा किया कि पूर्व रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर को अपना इस्तीफा देना पड़ा, क्योंकि वह राफेल विमान सौदे से सहमत नहीं थे। असहमति के कारण ही अपना पद छोड़कर वे गोवा के सीएम बने थे। पवार ने आरोप लगाया था कि राफेल घोटाले में कौन शामिल थे, इसकी जानकारी पर्रिकर को थी। 

टीवी वाले राहुल के बयान से पहले चलाएंगे डिस्क्लेमर 

वहीं गुजरात में एक सभा के दौरान महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री ने रविवार को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के गरीबी हटाओ के नारे पर नारे पर तंज कसते हुए कहा कि जल्द ही टेलीविजन पर उनके भाषण के आगे एक लाइन दिखाई देगी कि यह कार्यक्रम और इसके पात्र काल्पनिकता पर आधारित हैं। उन्होंने कहा, 'राहुल गांधी कहते हैं कि गरीबी हटाओ। उनके पिता और दादी ने भी यही बात कही थी। टीवी सीरियल ऐसे डिस्क्लेमर के साथ शुरु होते हैं कि कार्यक्रम के सभी पात्र काल्पनिक हैं। कुछ ही दिनों में टीवी चैनल राहुल गांधी के भाषण से पहले ऐसे डिस्क्लेमर भी दिखाएंगे कि ये भाषण काल्पनिक हैं।'