चंडीगढ़ : सेक्टर-16 स्थित जीएमएसएच-16 अस्पताल में उस समय हड़कंप मच गया जब रिटायर्ड फौजी दिलबारा सिंह जहरीले सांप को लेकर वहां पहुंच गया। सांप ने उस फौजी को काट लिया था और वह वहां इलाज करवाने पहुंचा था। दिलबारा सांप डॉक्टर को दिखाना चाहते थे पर वह बैग बाहर भाग निकला और मरीजों व डॉक्टरों में हड़कंप मच गया। हालांकि कुछ देर बाद किसी तरह सांप को काबू किया गया और अस्पताल में मौजूद लोगों ने राहत की सांस ली। फिलहाल, दिलबारा सिंह की हालत खतरे से बाहर बताई गई।
 

मुल्लांपुर निवासी रिटायर्ड फौजी दिलबारा सिंह को अचानक घर के बाहर सांप ने काट लिया। फिर भी, वह डरे नहीं और सांप को काबू कर बैग में डाला और इलाज करवाने खुद ही सेक्टर-16 स्थित गवर्नमेंट मेडिकल हॉस्पिटल और कॉलेज (जीएमएसएच)  पहुंच गए। वहां ड्यूटी पर मौजूद डॉक्टरों ने उनका इलाज किया। इसी बीच दिलबारा सिंह ने डॉक्टर को बताया कि सांप जहरीला है और वह उसे काबू कर उन्हें दिखाने आए हैं। इससे पहले डॉक्टर को कुछ समझ में आता, रिटायर्ड फौजी ने बैग खोल दिया। सांप पकड़ में आने से पहले ही अस्पताल के वार्ड में घुस गया। जैसे ही अस्पताल में सांप घुसने की खबर फैली, मरीजों, उनके परिजनों, डॉक्टरों और अस्पताल स्टॉफ में हड़कंप मच गया। सब इधर-उधर भागने लगे। 
मरीज ने पुलिस कंट्रोल रूम में दी सूचना
अस्पताल में हंडकंप मचने के बाद एक मरीज ने पुलिस कंट्रोल रूम में सूचना दी। सूचना पाकर तुरंत मौके पर जीएमएसएच-16 चौकी पुलिस पहुंच गई। हालांकि तब तक सांप को काबू कर लिया गया था। गनीमत रही कि
सांप अस्पताल में मौजूद किसी को भी नुकसान नही पहुंचा पाया था।web

डाक्टर ने पूछा बैग में क्या है?

रिटायर्ड फौजी दिलबारा सिंह ने बताया कि इलाद के बाद एक डॉक्टर ने उनसे पूछा था कि अापके बैग में क्या है। उसमें बंद सांप को दिखाने के लिए उन्होंने डॉक्टर के सामने बैग खोल दिया। उन्होंने सोचा था कि सांप को पकड़कर डॉक्टर को दिखा देंगे लेकिन वह बैग खुलते ही बाहर भाग निकला।