पेरिस । पेरिस के ऐतिहासिक गिरजाघर नोट्रे-डेम कैथेड्रल में सोमवार को आग लग गई, इस आगजनी से ऐतिहासिक इमारत बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गई और सदियों की विरासत खाक हो गई। इस आग में सबसे पहले यूनेस्को द्वारा विश्व धरोहर घोषित 850 साल पुरानी छत तबाह हुई, और शानदार गॉथिक मीनार वहां मौजूद लोगों के सामने ढह गई। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार आग बहुत भयानत थी और उसकी लपटे आसमान को छू रही थी। आग ऐसे समय में लगी है जब गिरजाघर में ईस्टर की तैयारियां की जा रही थीं। आग इतनी भयावह थी कि इसकी लपटे आसमान तक उठ रही थी, जिसे वहां मौजूद पर्यटक देख सन्न रह गए। दमकल विभाग के करीब 400 र्किमयों ने काफी मशक्कत की और वे काफी नुकसान के बावजूद टावर बचाने में कामयाब रहे। पेरिस के दमकल विभाग के प्रमुख जीन-क्लाउड गैलेट ने कहा, ‘‘हम ऐसा मान सकते हैं कि नोट्रे-डेम कैथेड्रल की प्रमुख संरचना और दो टावरों को बचा लिया गया है।’’ दमकल विभाग ने बताया कि राहत कार्य के दौरान एक कर्मी भी गंभीर रूप से घायल हो गया। 
इस घटना ने पूरा विश्व स्तब्ध है। यह फ्रांस के लोगों के लिए ही नहीं बल्कि पूरे विश्व के लिए दुखद घटना बताई जा रही है। इस आगजनी ने सदियों की विरासत को खाक कर दिया। दिल दहला देने वाली इस घटना को लेकर फिल्म जगत से लेकर अंतरराष्ट्रीय नेताओं ने सोशल मीडिया पर दुख व्यक्त किया। अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा ने ट्वीट किया कि नोट्रे डेम दुनिया की बड़ी धरोहरों में से एक है और हम दुख के इस क्षण में फ्रांस के लोगों के साथ हैं। जब हम इतिहास को खोता देखते हैं तो हम दुखी होते हैं लेकिन आने वाले कल के लिए फिर से मजबूती के साथ खड़ा होना भी हमारा स्वभाव है। पुतर्गाल के प्रधानमंत्री एंटोनियो कोस्टा ने ट्वीट कर लिखा कि मैंने फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों और शहर की मेयर एनी हिडालगो के साथ दुख की इस घड़ी में एकजुटता जतायी है। आग में यूरोपीय इतिहास का एक हिस्सा नष्ट हो गया। 
अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोंपियो ने ट्वीट कर लिखा कि नोट्रे डेम कैथेड्रल में लगी भीषण आग को देख रहे ज्यादातर अमेरिकी नागरिकों की तरह मैं भी इस पवित्र स्थल के विनाश और नुकसान को लेकर दुखी हूं। फ्रांस के लोगों, कैथोलिक समुदाय के लोगों और दुनिया भर के उन सभी लोगों के प्रति मेरी गंभीर संवेदनाएं जो इस इमारत की सुंदरता और इतिहास के प्रशंसक रहे हैं। वहीं अभिनेता रितेश देशमुख ने ट्वीट कर लिखा कि ये विश्व की सबसे बड़ी ट्रेजडी है और इस पर बोलने के लिए उनके पास कुछ नहीं है। अभिनेत्री रवीना टंडन ने भी इस घटना को काफी बुरा है और दुखद बताया।  ब्रिटेन की प्रधानमंत्री टेरीजा मे ने कहा कि आज रात मेरी संवेदनाएं फ्रांस के लोगों और आपात सेवाओं के साथ हैं जो नोट्रे-डेम कैथेड्रल में लगी भयानक आग को बुझाने में लगे हैं। इसके अलावा मिस्र, जर्मनी, इटली, नीदरलैंड, पोलैंड, स्पेन, बेल्जियम और ईरान ने भी इस घटना पर दुख जताया है। संयुक्त राष्ट्र महासचिव ने एक ट्वीट किया कि नोट्रे-डेम कैथेड्रल में लगी आग की तस्वीरें देख भयभीत हूं- पेरिस में विश्व धरोहर का एक अनूठा उदाहरण जो 14 वीं शताब्दी का है। फ्रांस के लोगों और सरकार के साथ मेरी संवेदनाएं हैं।