इस्लामाबाद: पाकिस्तान में अप्रैल की शुरुआत से तेज बारिश के कारण कम से कम 49 लोगों की मौत हो गई और 175 लोग घायल हुए हैं. आंधी और बारिश की वजह से 100 से अधिक घर नष्ट हो गए हैं. समाचार एजेंसी एफे के मुताबिक, 15 लोगों की मौत सोमवार के बाद बारिश और आंधी की वजह से हुई है. ज्यादातर मौतें घर की छतें और दीवारें गिरने की वजह से हुईं.  राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की ताजा जानकारी के अनुसार, मानसून पूर्व बारिश की वजह से 117 घर नष्ट हो गए.  प्रांतीय आपदा प्रबंधन के निदेशक राशिद अहमद ने कहा कि पंजाब प्रांत में पिछले दो दिनों में आंधी और बारिश की वजह से 15 लोगों की मौत हो गई और 94 घायल हुए हैं.

मूसलधार बारिश से करीब 80 घर ध्वस्त हो गए
अधिकारियों ने बताया कि पाकिस्तान के पंजाब, बलूचिस्तान और खैबर पख्तूनख्वा प्रांतों में मूसलधार बारिश से करीब 80 घर ध्वस्त हो गए. एक रिपोर्ट के अनुसार, बीते 24 घंटों के दौरान मौसम विभाग ने इस्लामाबाद में 57 एमएम, रावलपिंडी में 24 एमएम, लाहौर में 43 एमएम, गुजरांवाला में 40 एमएम और पेशावर में 16 एमएम बारिश रिकॉर्ड की है. अधिकारियों ने पंजाब, इस्लामाबाद, खैबर पख्तूनख्वा में धूलभरी आंधी और बारिश की चेतावनी भी दी है. 

बलूचिस्तान में बारिश से सर्वाधिक नुकसान
पाकिस्तानी मीडिया के अनुसार, बलूचिस्तान में बारिश से सर्वाधिक नुकसान हुआ है. कई क्षेत्रों में घरों की दीवारें और छत टूटकर गिर गए. कराची और पंजाब के शहरों में तेज हवाओं की वजह से पेड़ और साइनबोर्ड टूट कर गिर गए. इस सप्ताह की शुरुआत में कराची में स्कूल की दीवार गिरने से कई बच्चों के घायल होने की खबर सामने आई थी.

वहीं एक अन्य घटना में कैदियों को ले जा रहे एक वाहन पर पेड़ टूटकर गिरने से कई कैदी घायल हो गए.