नई दिल्ली, टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने महेंद्र सिंह धोनी को लेकर बड़ा बयान दिया है. कोहली ने कहा है कि उनके और एमएस धोनी के बीच बहुत विश्वास और सम्मान है. साथ ही धोनी एक ऐसे खिलाड़ी हैं जो मैदान पर पहली गेंद से लेकर 300वीं गेंद तक की क्रिकेट को सबसे बेहतर समझते हैं. इंडिया टुडे के साथ एक विशेष इंटरव्यू में विराट कोहली ने कहा कि वह बहुत भाग्यशाली हैं कि उनके पास स्टंप के पीछे महेंद्र सिंह धोनी जैसे खिलाड़ी हैं.  इसके अलावा यह देखना दुर्भाग्यपूर्ण है कि बहुत से लोग उनकी आलोचना करते हैं.

साल 2018 में महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में चेन्नई सुपर किंग्स ने बैन के बाद जोरदार वापसी करते हुए तीसरा आईपीएल का खिताब अपने नाम किया था. जबकि इससे पहले उन्हें 2017 में खराब फॉर्म के दौरान कई बार आलोचनाओं का सामना करना पड़ा था. उस दौरान कई क्रिकेट के जानकारों ने उनकी स्ट्राइक रेट पर भी सवाल उठाए थे. तब खुद विराट कोहली धोनी के बचाव में उतरे थे.


विराट कोहली और महेंद्र सिंह धोनी के बीच आपस में काफी आदर और सामान है. जब 2017 की शुरुआत में धोनी ने वनडे और टी-20 की कप्तानी छोड़ी थी तब कोहली ने टीम इंडिया की कमान संभालते हुए कहा था कि धोनी हमेशा उनके कप्तान रहेंगे. धोनी ने हमेशा मैदान पर कोहली ने दो स्पिनरों कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल का मार्गदर्शन किया है. मैदान पर धोनी के हर शब्द पर दोनों कलाई के स्पिनरों ने बहुत बार कामयाबी हासिल की है.
कोहली ने खुलासा किया कि वह क्यों एमएस धोनी का इतना सम्मान करते हैं. विराट कोहली ने इंडिया टुडे को बताया, 'धोनी एक ऐसे खिलाड़ी हैं जो मैदान पर पहली गेंद से लेकर 300वीं गेंद तक के खेल को सबसे बेहतर समझते हैं.' विराट कोहली ने कहा, 'मैं यह नहीं कहूंगा कि यह उनके लिए एक सुविधाजनक चीज है. बल्कि मैं इसलिए भाग्यशाली हूं क्योंकि हमारे पास स्टंप के पीछे धोनी जैसे बेहतरीन क्रिकेटिंग माइंड वाले व्यक्ति मौजूद हैं. टीम मैनेजमेंट की अधिकतर रणनीतियों में मैं माही भाई और रोहित के साथ शामिल होना चाहता हूं.'

कोहली ने कहा, 'डेथ ओवरों में मुझे पता है कि मुझे टीम के लिए कुछ करने के लिए आउटफील्ड में रहना होगा. क्योंकि यह मेरा स्वभाव है कि मैं टीम के लिए कुछ करना चाहता हूं बजाय इसके कि वहां कुछ हो.' कोहली ने कहा, '30-35 ओवर के बाद, धोनी जानते हैं कि मैं आउटफील्ड में हूं और सब ऑटो मोड में चला जाता है. धोनी खुद ही कमान संभाल लेते हैं. यह सिर्फ फील्ड प्लेसमेंट और गेंदबाजी में बदलाव की बात है. हम कहते हैं कि आप (धोनी) सभी एंगल को जानते हैं, आप पिच की गति जानते हैं और इसीलिए वहां आपसे बेहतर और कोई नहीं है.' कोहली ने कहा, 'हम दोनों के बीच इतना विश्वास और सम्मान है. यह देखना दुर्भाग्यपूर्ण है कि बहुत से लोग उनकी आलोचना करते हैं.'

विराट कोहली ने एमएस धोनी की कप्तानी में एक युवा क्रिकेटर के रूप में भारत के लिए अपना डेब्यू किया था. कोहली आज पूरे बल्लेबाजी का कम्पलीट पैकेज हैं. कोहली ने कहा कि वह कभी नहीं भूल सकते कि एमएस धोनी उनके साथ कैसे बने रहे और उन्हें महत्वपूर्ण नंबर 3 स्थान पर बल्लेबाजी करने दी.